बरेली, जागरण संवाददाता। Dussehra 2022:  दशहरा पर हरि मंदिर में शस्त्र पूजा के बाद फायरिंग करना लोगों को महंगा पड़ गया। पूजा-पाठ के बाद लोगों ने परपंरा के तहत हवाई फायरिंग की। शाम को अचानक से फायरिंग का वीडियो इंटरनेट मीडिया पर प्रसारित हो गया। इसी के बाद बारादरी पुलिस ने मामले में अज्ञात व्यक्तियों के विरुद्ध प्राथमिकी लिखकर जांच शुरू कर दी है। प्रसारित वीडियो से फायरिंग करने वालों की शिनाख्त की जा रही है।

इंटरनेट मीडिया पर प्रसारित हुआ वीडियो

उपनिरीक्षक विनय कुमार की ओर से मामले में प्राथमिकी लिखाई गई। विनय कुमार के अनुसार, माडल टाउन के पीछे हरि मंदिर में कुछ व्यक्तियों ने दशहरा पर्व पर शस्त्र पूजन किया। पूजन के बाद शस्त्रों से हर्ष फायर किया गया। फायरिंग की जानकारी पर मौके पर पहुंचे तो वहां कोई मौजूद नहीं मिला। जानकारी की गई तो पता चला कि कुछ व्यक्तियों द्वारा एक-एक राउंड फायर किया गया है जिसकी इंटरनेट मीडिया पर वीडियो भी प्रसारित हो रही है।

आरोपितों में कई हिंदू संगठनों के पदाधिकारी

आरोप है कि व्यक्तियों की यह हरकत आर्म्स एक्ट की हद में आती है। लिहाजा, प्रसारित वीडियो के आधार पर अज्ञात के विरुद्ध प्राथमिकी लिख ली गई। प्राथमिकी लिखे जाने के बाद से फायर करने वालों में अफरा-तफरी मची हुई है। चर्चा है कि सभी हिंदू संगठन से जुड़े हैं। इसमे कई संगठन के पदाधिकारी भी हैं।

भाजपा जिलाध्‍यक्ष बोले, यह परंपरा

दशहरा पर शस्त्र पूजन कोई नई परंपरा नहीं है। यह आदिकाल से चली आ रही है। पुलिस ने मामले में प्राथमिकी किन कारणों से लिखी, इस बारे में अफसरों से बात की जाएगी। प्राथमिकी बिल्कुल गलत है। ऐसे में तो परपंरा का निर्वाह करना भी मुश्किल हो जाएगा।

एसपी बोले, जांच के बाद होगी कार्रवाई

एसपी सिटी राहुल भाटी ने कहा कि हर्ष फायरिंग बिल्कुल गलत है। प्रकरण में एक वीडियो इंटनेट मीडिया पर प्रसारित हो रही है। उसी आधार पर नियमानुसार ही मामले में प्राथमिकी लिखी गई है। साक्ष्यों के आधार पर आगे की कार्रवाई सुनिश्चित कराई जाएगी।

Edited By: Vivek Bajpai

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट