बरेली, जेएनएन।  प्रेमनगर के राजेंद्र नगर बांके बिहारी मंदिर के आसपास पास कोरोना वैक्सीन के विरोध में घरों के बाहर पर्चे फेंकने के मामले में पांच दिन बाद भी पुलिस के हाथ खाली है। पर्चे में लिखे नंबर के आधर पर पुलिस ने आयुर्वेदिक डॉक्टर से भी बातचीत की। पूछताछ में उन्होंने साफ कहा कि किसी खुराफाती ने खुराफात की। उनकों बदनाम करने और फंसाने की नियत से पर्चे पर उनका नंबर लिखा गया। पुलिस ने डॉक्टर की लोकेशन निकाली तो वह भी बरेली में नहीं मिली। जिसके बाद पुलिस ने डाॅक्टर को क्लीन चिट दे दी है। पुलिस अब आसपास के इलाके में सुबह मार्निंग वॉक करने वालों से पूछताछ कर आरोपित तक पहुंचने का प्रयास करेगी। वहीं फरीदाबाद डॉक्टर से पूछताछ करने गई टीम वापस लौट आई हैं।

कोरोना वैक्सीन को लेकर भ्रामक बातें लिखे गए कई पर्चे रविवार को राजेंद्र नगर के बांके बिहारी मंदिर के आसपास खुराफाती ने फेंके थे। सुबह लोगों ने पर्चा देखा तो पुलिस को जानकारी दी। प्रेमनगर पुलिस मौके पर पहुंची और तहरीर के आधार पर अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर पड़ताल शुरू की। इस दौरान सीसीटीवी चेक करने के दौरान पुलिस को एक लंबा सा युवक मफलर लगाए हुए पर्चा फेंकते दिखा।

पुलिस ने उसकी पहचान का प्रयास किया लेकिन मफलर और कोहरा होने के कारण चेहरा साफ नहीं दिखा हालांकि पुलिस फरीदाबाद के डाक्टर को क्लीन चिट देने के बाद पुलिस नए सिरे से खुराफाती की तलाश कर रही है।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप