बरेली, जेएनएन। तेजी से बढ़ रहे कोरोना संक्रमण को लेकर जहां पूरे प्रदेश में अलर्ट जारी है। वहीं रोडवेज ने केवल कागजों में आदेश जारी करते हुए कार्यों की इतिश्री कर ली है। निर्धारित समय से अधिकतम 30 मिनट पहले पहुंचने व मास्क की अनिवार्यता का कहीं पालन नहीं हो रहा है। सवारी बिना मास्क लगाए एक दूसरे से सटकर बैठ रही हैं। रोडवेज के चालक-परिचालक खुद ही मास्क नहीं लगा रहे हैं। जबकि एक सीट में तीन-तीन सवारी बैठाई जा रही हैं। ऐसे में संक्रमण फैलने का खतरा और अधिक बना रहता है।

सेटेलाइट बस अड्डे पर शाहजहांपुर डिपो की बस यूपी 87 टी 2109 के चालक व परिचालक बिना मास्क लगाए मिले। नाम पूछे जाने पर तुरंत मास्क लगा लिया और कुछ भी नहीं बोले।शाहजहांपुर डिपो की बस यूपी 25 बीटी 1177 के चालक राजेश कुमार भी बिना मास्क लगाए मिले। बस में बैठी अधिकांश सवारी मास्क लगाए दिखी। जबकि परिचालक भी बिना मास्क के घूमते मिले।बरेली डिपो की यूपी 32 एमएन 9848 जनरथ बस के चालक व परिचालक बिना मास्क लगाए मिले। फोटो खीचे जाने के तुरंत बाद मास्क लगा लिया। पूछे जाने पर थोड़ी देर पहले ही हटाए जाने की बात कही।

टनकपुर- दिल्ली 05325 पूर्णागिरी जनशताब्दी एक्सप्रेस में आम दिनों की तुलना में कम सवारी रहीं। डी-1 कोच में सवारियां सीटिंग चेयर कार खाली होने के बाद एक दूसरे के पास सटे बैठे मिले। पूछे जाने पर सभी ने तुरंत मास्क लगा लिया।जंक्शन पर तैनात कर्मचारी मास्क लगाए मिले। यहां मुख्य प्रवेश द्वार पर बैठे सुरक्षा कर्मी से लेकर टिकट चेकिंग स्टाफ भी मास्क लगाए बैठे मिला।

क्षेत्रीय प्रबंधक आरके त्रिपाठी ने बताया कि सभी चालक-परिचालकों को मास्क अनिवार्य किए जाने के साथ ही सवारियों को भी मास्क लगाए होने पर ही प्रवेश देने के स्पष्ट निर्देश दिए गए हैं। फिर भी अगर कोई चालक-परिचालक बिना मास्क के मिलता है तो उस पर कार्रवाई की जाएगी।

 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप