जेएनएन, बरेली : लोकसभा चुनाव की तैयारियों में जुटी भाजपा यह भी जानने में जुटी है कि अलग-अलग क्षेत्रों में सपा-बसपा के गठबंधन की क्या स्थिति होगी। उसका कितना असर दिखेगा। नये राजनीतिक समीकरणों के बीच भाजपा के नजरिये से लोकसभा क्षेत्र की सीटें कितनी मजबूत हैं, कहां पर कसर है। इसको लेकर लंबी चर्चा हुई। तीन घंटे तक रुहेलखंड के सांसद, विधायकों के साथ उप मुख्यमंत्री व राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ने क्षेत्र के प्रत्येक पहलू को परखा।

सर्किट हाउस में हुई बैठक में पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष दुष्यंत गौतम, प्रदेश महामंत्री गोविंद नारायण शुक्ला और उपमुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने रुहेलखंड की पाचों सीटों की स्थिति का आकलन किया। तीनों सांसदों से पूछा कि सरकारी योजनाओं का कितना लाभ क्षेत्र के लोगों को मिला और उनका नजरिया क्या है। सबसे पहले शाहजहांपुर लोकसभा क्षेत्र की बैठक हुई। प्रभारी डॉ. विनोद तिवारी, संयोजक सत्यभान भदौरिया और केंद्रीय मंत्री कृष्णाराज आदि मौजूद रहीं। उन्होंने बताया कि सपा-बसपा गठबंधन में यह सीट किस दल के पास जाने की संभावना है। उस स्थिति में जातिगत आंकड़े क्या होंगे और भाजपा प्रत्याशी की स्थिति कितनी मजबूत होगी, इस पर लंबी चर्चा हुई। बदायूं लोकसभा क्षेत्र की बारी आई तो बताया गया कि चूंकि वर्तमान में यह सीट सपा के पास है, ऐसे में गठबंधन कोई नया प्रयोग संभवता नहीं करेगा। वहां भाजपा से कौन उन्हें टक्कर दे सकता है, इसके लिए कुछ नामों पर चर्चा हुई। भाजपा के लिए बड़ा वोटबैंक क्या होगा, सीट जीतने के लिए क्या रणनीति कारगर रहेगी, इस बाबत पूछा गया। आंवला लोकसभा सीट पर भाजपा के धर्मेद्र कश्यप सांसद हैं। सपा-बसपा गठबंधन में इस सीट पर कौन लड़ सकता है, इस बाबत पूछा गया। इसके बाद पीलीभीत और बरेली लोकसभा के पदाधिकारियों के संग बैठक हुई। कहा गया कि इन सीटों पर सपा अपना दावा मजबूती से रखेगी। मंत्रियों से पूछी स्थिति बरेली के सांसद एवं केंद्रीय मंत्री संतोष गंगवार, पीलीभीत की सांसद एवं केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी और शाहजहांपुर की सांसद व केंद्रीय मंत्री कृष्णराज से भी फीड बैक लिया गया। संगठन की तैयारियों के बारे में भी जाना। मुस्लिम बहुल्य क्षेत्रों में बूथ बनाने पर दें ध्यान बैठक में पदाधिकारियों ने बूथ आदि बनाने पर चर्चा की। उन्होंने पदाधिकारियों को निर्देशित किया। मुस्लिम बहुल्य क्षेत्रों में बूथ कमेटी गठन पर विशेष ध्यान दें, जिससे मुस्लिम समाज में भी पार्टी की योजनाओं और उपलब्धियों का प्रचार हो सके।

पप्पू भरतौल को गाड़ी से उतारने की चर्चा

बैठक के बाद उपमुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा अपनी गाड़ी में पहुंचे तो वहां बिथरी विधायक राजेश मिश्रा पप्पू भरतौल बैठे मिले। इसके साथ ही राष्ट्रीय उपाध्यक्ष दुष्यंत गौतम, प्रदेश महामंत्री गोविंद नारायण शुक्ल भी बैठे थे। डिप्टी सीएम ने पप्पू भरतौल से उतरने को कहा। बताया कि इसमें जिलाध्यक्ष जाएंगे। आप उतर जाइए। इस पर विधायक बाहर निकल आए। इस बाबत विधायक पप्पू भरतौल बोले कि वह गाड़ी में बैठे थे, लेकिन उनके साथ राष्ट्रीय उपाध्यक्ष को लखनऊ जाना था। हेलीकॉप्टर में इतनी जगह नहीं थी, इसलिए डिप्टी सीएम के कहने पर वह गाड़ी से उतर गए।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस