बरेली, जेएनएन : रुहेलखंड में स्वतंत्रता संग्राम का आगाज करने वाले नवाब खान बहादुर खान का नाम जरुर लिया जाएगा। 18 57 की क्रांति में खान बहादुर खान की अगुआई में ही अंग्रेजों के खिलाफ विद्रोह हुआ था। तब लगभग एक वर्ष तक बरेली फिरंगियों से आजाद रही थी। 


नवाब खान बहादुर खान की तस्वीर। जागरण 

स्वतंत्रता दिवस के मौके पर बरेली के जिलाधिकारी वीरेंद्र कुमार पुरानी जिला जेल स्थित नवाब खान बहादुर खान की मजार पहुंचे। प्रशासनिक अधिकारियों के साथ उन्होंने मजार पर चादरपोशी की और फूल भी चढ़ाए। डीएम ने कहा कि बरेली को नवाब खान बहादुर खान की कुर्बानी पर गर्व है। उन्होंने अपनी कुर्बानी पर ऐसा संदेश दिया जिससे अभी भी हम सभी को प्ररेणा मिल रही है। 

फोटो में देखे किस तरह बरेली में मनाया गया आजादी का जश्न 

भाजपा कार्यालय में ध्वजारोहरण करते केंद्रीय मंत्री संतोष गंगवार और साथ में भाजपा नेता। जागरण 

कलेक्ट्रेट में सांस्कृतिक कार्यक्रम कर छात्राओं ने समां बांध दिया। जागरण  

सभा को संबोधित करते महापौर डॉ. उमेश गौतम। जागरण 

स्वतंत्रता दिवस के मौके पर रंग-बिरंगे गुब्बारों से सजा चौकी चौराहा। जागरण 

 

रक्षाबंधन और स्वतंत्रता दिवस के मद्देनजर रेलवे जंक्शन पर भीड़भाड़ रही। जागरण 

रक्षाबंधन पर रोडवेज पर यात्रियों की भीड़। जागरण  

Posted By: Abhishek Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस