बरेली, जेएनएन : बागी बेटी के अनुसूचित जाति युवक अजितेश से प्रेमविवाह रचाने पर विधायक राजेश मिश्रा उर्फ पप्पू भरतौल पहले ही कह चुके थे कि पूरे प्रकरण के पीछे राजनीतिक साजिश है। पूरे दिन चर्चा रही कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी मामले का संज्ञान लिया। सामने आया कि उन्होंने प्रमुख सचिव से पूरे प्रकरण की रिपोर्ट तलब की है। ऐसा होने पर बरेली प्रशासन को रिपोर्ट बनाकर भेजनी होगी। हालांकि स्थानीय अधिकारी इस पर कुछ भी बोलने से बच रहे।

भाजपा से जुड़े सूत्रों की मानें तो मुख्यमंत्री ने पूछा है कि यह सिर्फ प्रेमविवाह है, या फिर सियासी साजिश तो नहीं। इस मामले की रिपोर्ट भेजने से पहले अफसर बिथरी विधायक राजेश मिश्रा उर्फ विधायक पप्पू भरतौल का पक्ष भी जानेंगे। हालांकि वह पहले ही कह चुके हैैं कि उनके खिलाफ साजिश की जा रही है। उन्होंने अपनी ही पार्टी के दो विधायकों पर ऐसा करने का आरोप भी लगाया है। एक विधायक से गांव में विकास कार्यों को लेकर तो दूसरे से उनके घरेलू मामले में दखलंदाजी पर विवाद हुआ था। आरोप है कि दोनों ने बदला लेने के लिए ही साक्षी-अजितेश के प्रेमविवाह को हवा दी। राष्ट्रीय चैनलों पर बहस का मुद्दा बनवाने में उनकी भूमिका रही है। कानूनन इस मामले में भले ही कुछ न हो लेकिन पार्टी स्तर पर कार्रवाई की संभावना प्रबल हो गई है।

साक्षी के अभी शहर आने की उम्मीद कम

सोमवार को साक्षी व अजितेश हाईकोर्ट में पेश हुए। उनकी शादी को वैध मानते हुए पुलिस सुरक्षा दे दी गई मगर अभी उन दोनों के शहर आने की उम्मीद कम ही है। घर पर ताला लगा है।

विधायक बोले, प्रयागराज में मेरी मौजूदगी की बात झूठी

सोमवार दोपहर को विधायक राजेश मिश्रा ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो जारी किया। जिसमें कहा कि एक चैनल ने भ्रामक सूचना दी कि सोमवार को जिस वक्त अजितेश से प्रयागराज में मारपीट की गई, तब मैं उस शहर में मौजूद था। उन्होंने कहा कि मैं अपने विधानसभा क्षेत्र में पार्टी की सदस्यता में लगा हूं। मेरे प्रयागराज में होने की बात झूठी है।

फरीदपुर विधायक के नाम से वायरल हुई थी फर्जी चैट

प्रकरण में विवाद यहां तक पहुंच गया कि रविवार को फरीदपुर विधायक प्रो. श्याम बिहारी लाल के नाम से एक फर्जी वाट्सएप चैट वायरल हुई, जिसमें राजेश मिश्रा को लेकर बातें लिखी गईं थी। उसी रात प्रो. लाल ने फर्जी चैट दिखाने वाले पर मुकदमा भी कराया। माना जा रहा है कि अब खींचतान खुलकर सामने आ रही, ऐसे में लखनऊ से संज्ञान लेना शुरू कर दिया है। 

मामला चैनलों और अखबारों में छाया हुआ है, हर स्तर तक इसकी जानकारी है। रिपोर्ट मांगी जाती है, तो भेजी जाएगी। - रवींद्र सिंह राठौर, भाजपा जिलाध्यक्ष, बरेली

इस प्रकरण में मुझे जो कहना था मैं कह चुका हूं। - राजेश मिश्रा उर्फ पप्पू भरतौल, विधायक व साक्षी के पिता

शासन ने नहीं मांगी जानकारी 

एसएसपी मुनिराज जी ने कहा कि अभी इस संबंध में शासन स्तर से जानकारी नहीं मांगी गई है। मांगे जाने पर स्थिति से अवगत कराया जाएगा। 

अभी कोई अधिकृत सूचना नहीं

डीएम वीरेंद्र कुमार सिंह ने कहा कि सीएम के रिपोर्ट मांगे जाने की सूचना मैंने भी टीवी पर ही देखी है। मेरे पास अभी ऐसी कोई भी अधिकृत सूचना नहीं आई है। जिसमें इस मामले की रिपोर्ट मांगी गई हो। 

Posted By: Abhishek Pandey