बरेली, जेएनएन : जिला अस्पताल में सफाई व्यवस्था ठप हो गई है। ठेके पर लगाए गए कर्मचारियों ने सफाई करना बंद कर दिया है। मंगलवार को अस्पताल प्रशासन ने बाहर से कर्मचारी मांगकर सफाई करवाई, हालांकि बच्चा वार्ड के बाहर भीषण गंदगी फैली रही। गंदगी के कारण डॉक्टर भी वार्डो में जाने से इन्कार करने लगे हैं।

शासन स्तर पर अस्पताल में सफाई का ठेका प्राइम क्लीनिंग सर्विसेज को दिया हुआ है। ठेके पर जिला अस्पताल के लिए 72 सफाई कर्मचारी लगाए जाने तय हुए थे, लेकिन वहां मात्र 40 कर्मचारी ही सफाई कार्य में लगे हुए हैं। इन कर्मचारियों ने कम वेतन मिलने और वह भी समय पर नहीं मिलने को लेकर कार्य बहिष्कार कर दिया है। इसके चलते जिला अस्पताल की सफाई व्यवस्था चौपट हो गई है। मंगलवार को आधे दिन की ओपीडी होने के बावजूद मरीजों की संख्या काफी रही। इस दौरान गंदगी का आलम बना रहा। बच्चा वार्ड के सामने सीवर का गंदा पानी जमा रहा, जिससे दरुगध वार्ड के अंदर तक आ रही थी। अंदर भी काफी गंदगी रही। हालत यह है बच्चा वार्ड में जाने से डॉक्टर भी मना करने लगे हैं। अस्पताल प्रबंधन के मुताबिक महिला अस्पताल व मानसिक अस्पताल से सफाई कर्मचारियों को बुलाकर सफाई करवाई गई।

Posted By: Abhishek Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप