बरेली, जेएनएन। Coronavirus Monitoring Bareilly Update : कोरोना संक्रमित पाए जाने वाले मरीजों को बिथरी के कोविड लेवल वन अस्पताल में क्वारंटाइन कराया जा रहा है। यहां आमजन या किसी और का पहुंचना नामुमकिन है। उनके लिए की जाने वाली व्यवस्था, उनकी दशा के बारे में या तो खुद संक्रमित जानते हैं या वहां के चिकित्सक और स्टाफ। पहली बार कोविड वार्ड में गंदगी के बीच मरीजों के रहने और फटा मास्क पहनने को मजबूर होने का मामला सामने आया हैं। यह बातें खुद वहां भर्ती मरीजों ने ही दैनिक जागरण को बताई, साक्ष्य के तौर वहां के फोटो भी भेजे हैं। जिन मरीजों में कोरोना के लक्षण नहीं पाए जाते, लेकिन वह जांच में संक्रमित मिलते हैं। उन्हें कोविड लेवल वन, बिथरी अस्पताल में भर्ती कराया जाता है।

कोविड अस्पताल की हर तीन घंटे में साफ-सफाई किए जाने का प्रावधान है। जिले में भी ऐसा ही हो रहा था, यही जानकारी स्वास्थ्य विभाग की ओर से लगातार दी जा रही है। मुख्यमंत्री, प्रभारी मंत्री व अन्य उच्चाधिकारियों तक भी यही रिपोर्ट जा रही है। लेकिन इसके इतर वहां भर्ती मरीज अस्पताल के अंदर की कुछ और ही कहानी बयां कर रहे हैं। पढि़ए क्या कह रहे हैं एल-1 बिथरी अस्पताल में भर्ती संक्रमित..।

खाना तो मिला रहा, लेकिन वार्ड में गंदगी बहुत है दो दिन पहले कोविड लेवल वन बिथरी में भर्ती हुए दो संक्रमितों ने बताया कि जहां उन्हें रखा गया है वह रहने लायक कतई नहीं है। आसपास गंदगी है, कचरा पड़ा है। पुराने गंदे मास्क फैले पड़े हैं। बेड के नीचे मिट्टी फैली है और कल से अब तक कोई सफाई नहीं हुई है। हाथ धोने को साबुन तक की व्यवस्था नहीं की गई है। मिट्टी से ही हाथ धो रहे हैं, वार्ड में सैनिटाइजर भी नहीं रखा गया है। पानी पीने के लिए न गिलास है और न ही कोई बोतल। वॉटर कूलर रखा है, उसी से चुल्लू लगाकर पानी पी रहे हैं।

तीन दिन से फटा मास्क पहन रहे 25 मई को कोविड अस्पताल में भर्ती हुए दोनों संक्रमित भी परेशान हैं। बताया कि डिस्पोजल मास्क दिया गया है। एक ही मास्क तीन-चार दिन तक पहने रहते हैं। बताया कि जो मास्क लगा है वह फटा है और उसकी तनी में गांठ लगाकर किसी तरह काम चला रहे हैं। बताया कि मास्क के लिए दो दिन से कह रहे हैं कोई सुनवाई करने वाला नहीं है। बताया कि बीते तीन-चार दिनों से व्यवस्था ज्यादा खराब है।

खाने में कोई कमी नहीं अस्पताल में भर्ती सभी मरीजों ने खाने की खूब तारीफ की। बताया कि खाना तीनों टाइम मिलता है। सुबह नाश्ते में पूड़ी-सब्जी और बाकी दोनों समय खाना और दिन में फल व दूध भी मिलता है।

कोविड अस्पताल में भर्ती मरीजों से हर रोज फीडबैक लिया जा रहा है। उन्होंने सारे इंतजाम बढि़या बताए थे। दो दिन पहले सीएम कार्यालय से इसे बढि़या बताया गया। वहां गंदगी, मास्क न दिए जाने की बात सही नहीं है। अगर किसी ने फोटो भी भेजे हैं तो यह गंभीर विषय है। इसकी जांच कराई जाएगी। -डॉ. विनीत कुमार शुक्ला, सीएमओ

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस