जेएनएन, बरेली : शीशगढ़ थाना क्षेत्र के टांडा छंगा निवासी छात्र इरशाद को धमकाने के मामले में शीशगढ़ इंस्पेक्टर को डीजीपी ने तलब किया है। इंस्पेक्टर सुबह ही लखनऊ के लिए रवाना हो गए। सीओ की ओर से की गई जांच में भी इंस्पेक्टर मिस कंडक्ट (दुराचरण) के दोषी पाए गए हैं। अब जिले के उच्चाधिकारी रिपोर्ट पढ़ने के बाद आगे की कार्रवाई करने की बात कह रहे है।

Tweet करने पर दी थी छात्र को धमकी 

नौ अक्टूबर को शीशगढ़ थाना क्षेत्र के गांव टांडा छंगा निवासी एलएलबी के छात्र इरशाद ने पड़ोस में पराली जलाए जाने की शिकायत की थी। उन्होंने इस संबंध में एडीजी अविनाश चंद्र और यूपी पुलिस को ट्वीट कर दिया था। जिस पर अफसरों ने शीशगढ़ थाना पुलिस के लिए कार्रवाई को निर्देशित किया। जानकारी हुई तो इंस्पेक्टर शीशगढ़ सुरेंद्र पचौरी ने फोन कर छात्र को जमकर फटकार लगाई। कहा कि मेरे पूछे बिना तुमने ट्वीट क्यों किया। छात्र पर गैंगस्टर लगा जेल भेजने की धमकी दी थी। दहशत में आया छात्र माफी मांगता रहा। हालांकि अगले ही दिन बातचीत के दो ऑडियो वायरल हो गए तो मामला तूल पकड़ गया।

सीओ बहेडी ने की थी मामले की जांच 

एसएसपी शैलेश पांडेय की ओर से मामले की जांच सीओ बहेड़ी रामानंद रॉय को सौंपी गई। शुक्रवार को जांच पूरी होने के बाद सीओ ने रिपोर्ट उच्चाधिकारियों को सौंप दी। इसके कुछ देर बाद ही मामला लखनऊ पहुंच गया और इंस्पेक्टर को डीजीपी ने तलब कर लिया। इसकी जानकारी मिलने पर इंस्पेक्टर सुबह ही लखनऊ रवाना हो गए।

ठीक नहीं पाया गया छात्र के साथ व्यवहार 

 जांच पूरी कर उच्च अधिकारियों को रिपोर्ट भेज दी गई है, आगे का निर्णय वही लेंगे। जांच में इंस्पेक्टर का छात्र के साथ व्यवहार ठीक नहीं पाया गया। वायरल ऑडियो के आधार पर यह बात स्पष्ट भी हुई है। इन सभी तथ्यों व पहलुओं को रिपोर्ट में आधार बनाया गया है। -रामानंद राय, सीओ बहेड़ी

Posted By: Abhishek Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस