बरेली, जागरण संवाददाता। Dengue Death in Bareilly : बरेली के मीरगंज के हुरहुरी गांव में डेंगू से प्रधान के पति की मृत्यु हो गई। वह पिछले कई दिनों से बीमार चल रहे थे। रेपिड टेस्ट में उनमें डेंगू की पुष्टि हुई थी लेकिन स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही की वजह से उनका एलाइजा टेस्ट नहीं कराया गया।

उनकी मृत्यु के बाद आनन फानन में गांव में स्वास्थ्य कैंप लगाया गया। जांच में तीन अन्य लोग भी डेंगू से संक्रमित मिले, जबकि 25 लोग बुखार से पीड़ित थे।

हुरहुरी गांव में रहने वाली सुधा शाक्य ग्राम प्रधान हैं। उनके पति कुलदीप मौर्य को बीते कई दिनों से बुखार आया तो उन्होंने सीएचसी पर अपनी डेंगू की जांच कराई। रेपिड कार्ड टेस्ट में उनकी रिपोर्ट पाजिटिव मिली। इसके बाद भी स्वास्थ्य विभाग ने उनका एलाइजा टेस्ट के लिए ब्लड सैंपल नहीं लिया।

तब प्रधान के पति एक प्राइवेट अस्पताल में अपना इलाज कराने के लिए पहुंच गए। वहां पर भी कोई फायदा नहीं हुआ तो उन्हें पीलीभीत रोड स्थिति एक दूसरे प्राइवेट अस्पताल में रेफर कर दिया गया। जहां कुछ ही घंटों के इलाज के बाद उनकी मृत्यु हो गई।

डेंगू से मृत्यु की सूचना पर डीएम शिवाकांत द्विवेदी, सीएमओ डा. बलवीर सिंह, एसडीएम, आइडीएसपी की टीम समेत तमाम लोग गांव पहुंच गए। डीएम के आदेश के बाद गुरुवार को ही गांव में कैंप का आयोजन किया गया जिसमें तीन लोग डेंगू से पीड़ित मिले। वहीं, 25 लोग बुखार से पीड़ित थे। जिले में डेंगू से यह दूसरी मृत्यु है। इससे पहले एक व्यक्ति की इसी गांव में डेंगू से मृत्यु हो चुकी है। मगर स्वास्थ्य विभाग ने तब कोई संज्ञान नहीं लिया।

ये लोग मिले डेंगू से पीड़ित

सीएमओ डा. बलवीर सिंह ने बताया कि गांव के ही सत्यवीर, दीपक और रूपा देवी को भी कई दिनों से बुखार आ रहा था। उनकी रेपिड टेस्ट किट से जांच की गई तो वह भी डेंगू से पीड़ित मिले हैं। सभी का एलाइजा टेस्ट के लिए रक्त का सैंपल ले लिया गया है। जांच के बाद उनमें पुष्टि होगी। हालांकि अन्य लोग सामान्य बुखार से पीड़ित थे।

गांव में कराया छिड़काव

स्वास्थ्य विभाग की तरफ से एक व्यक्ति की मृत्यु के बाद पूरे गांव में फागिंग कराई गई। साथ ही डीएम के आदेश पर पूरे गांव में साफ सफाई भी हुई। इसी के साथ डीबीओएल शुगर मिल के यूनिट हेड आशीष शर्मा का कहना है कि अब शुक्रवार से वह भी पूरे गांव में फागिंग कराएंगे।

वह व्यक्ति एनएस1 पाजिटिव था। उसका एलाइजा टेस्ट नहीं हुआ था। गांव में कैंप लगाया गया, जिसमें तीन अन्य लोग एनएस1 संक्रमित मिले हैं। उनके एलाइजा टेस्ट के लिए सेंपल लिया गया है। - सीएमओ डा. बलवीर सिंह

Edited By: Ravi Mishra