बरेली, जेएनएन। कोरोना संक्रमण के ओमिक्रोन वैरिएंट के कम्युनिटी स्प्रेड के स्तर पर पहुंचने से जिले में अब बड़ी संख्या में कोरोना पाजटिव मिलने की आशंका बढ़ गई है। सोमवार को भी जिले में 233 संक्रमित और मिल गए, जिसमें 161 संक्रमितों को होम आइसोलेशन में भेजा गया। अब सक्रिय संक्रमितों की संख्या 2220 हो गई है।

स्वास्थ्य विभाग की कोविड-19 जिला सर्विलांस टीम की ओर से प्राप्त आंकड़ों के मुताबिक जिले में 3564 लोगों ने कोरोना जांच कराई थी। इसमें 1603 लोगों ने एंटीजन जांच कराई थी, जिसमें 45 लोग पाजटिव मिले। 1922 लोगों ने आरटीपीसीआर जांच कराई, जिसमें 177 लोग संक्रमित मिले। 39 ट्रूनैट जांचों में 11 में संक्रमण की पुष्टि हुई। वहीं, जिला अस्पताल में 155 लोगों के सैंपल लिए गए। वहीं, 198 लोगों का होम आइसोलेशन ओवर होने पर उन्हें स्वस्थ्य मान लिया गया। जिले के विभिन्न कोविड अस्पतालों में 34 मरीजों का इलाज किया जा रहा है। इस बारे में जिला सर्विलांस टीम के प्रभारी डा. अनुराग गौतम ने कहा कि अब सैंपलिंग तेजी से की जा रही है, जिससे संक्रमितों की पहचान करके उनको इलाज मुहैया कराया जा सके।

संक्रमितों में ये रहे शामिल: भारतीय जीवन बीमा निगम के लेखा अधिकारी, भारतीय स्टेट बैंक आंचलिक कार्यालय के उप प्रबंधक, एक निजी अस्पताल का डाक्टर और लेखाकार, इंडियन आयल कार्यालय का एक कर्मी, बेसिक शिक्षा विभाग के तीन शिक्षक, रेलवे का एक कर्मी, रोडवेज में कार्यरत एक कैशियर, जेल पुलिस का एक कांस्टेबल, जिला अस्पताल का एक फार्मासिस्ट, बैंक आफ बड़ौदा क्षेत्रीय कार्यालय का एक कर्मी, रिलायंस स्मार्ट शाप का प्रबंधक, जिला अस्पताल का लैब सहायक, रेलवे अस्पताल का डाक्टर आदि संक्रमित मिले हैं।

Edited By: Ravi Mishra