जेएनएन, बरेली : डीजल, पेट्रोल, कुकिंग गैस मूल्य वृद्धि खिलाफ सोमवार को कांग्रेसियों के बाजार बंद के दौरान कुछ ऐसा भी हुआ, जिसका मजाक उडाया जा रहा। दरअसल, बंदी के लिए कांग्रेस के नेता दूसरों की दुकानें बंद करा रहे थे मगर उसी दौरान कुछ नेताओं की दुकानें खुली हुुईं थीं। सोशल मीडिया पर इनसे जुडे फोटोवायरल हुए तो मजाक उडा, तंज भी कसा गया।फेसबुक पर दुकानें खुलने के फोटो बंद के आह्वान के बावजूद कुछ कांग्रेसियों के प्रतिष्ठान खुलने की फोटो फेसबुक पर काफी चर्चित हुए। महानगर अध्यक्ष चौधरी असलम मियां के भाई, डा. नीतू मेहरोत्रा की दुकानों के फोटो अपलोड कर लोगों ने तीखे कमेट किए।  

इससे पहले सोमवार को कांग्रेस कार्यकर्ता रैली निकालते हुए बाजार बंद कराने पहुंचे। कुछ दुकानदारों ने चंद घंटे ही बाजार बंद रखा। कांग्रेसियों ने केंद्र सरकार के खिलाफ धरना-प्रदर्शन भी किया। कांग्रेसी सुबह अंबेडकर पार्क पर इकट्ठे हुए। यहां से जिलाध्यक्ष रामदेव पांडेय, महानगर अध्यक्ष चौधरी असलम मियां के नेतृत्व में कांग्रेस कार्यकता बाजार बंद कराने निकले। कांग्रेसी रैली निकालकर कुमार टाकीज, कुतुबखाना, बड़ा पुल, नैनीताल रोड, कोहाड़ापीर, श्यामगंज, कालीबाड़ी, सिविल लाइंस पहुंचे और बाजार बंद कराया। इस बीच कई जगह नुक्कड़ सभाएं कर केंद्र सरकार की जनविरोधी नीतियों का विरोध किया। कुछ जगह बाजार बंद करने में कांग्रेसियों का विरोध भी हुआ। बावजूद इसके कई जगह लोगों ने करीब एक घंटे के लिए दुकानें बंद कर लीं। इस दौरान प्रेम प्रकाश अग्रवाल, नवाब मुजाहिद हसन खां, अजय शुक्ला, पारस शुक्ला, फरहान अली, योगेश जौहरी, राकेश सक्सेना, डॉ. जकीर खान, सौरभ राठी, डा. नीतू मेहरोत्रा, कमलेश ठाकुर आदि मौजूद रहे। उधर, यूथ कांग्रेस के लोकसभा अध्यक्ष महेंद्र सिंह के नेतृत्व में सैकड़ों युवाओं ने सभी पेट्रोल पंपों पर सिर पर काली पट्टंी बांधकर विरोध प्रदर्शन किया। वही, अनुज गंगवार के नेतृत्व में पदाधिकारियों ने मोटर साइकिल रैली निकालकर दुकानदारों से दुकानें बंद करने की अपील की।