जेएनएन, बरेली: नागरिकता संशोधन कानून के बाद बदले हालात और हाल ही में पूर्वाचल व दिल्ली में आइएसआइ एजेंट पकड़े जाने के बाद शासन ने जिले में हाईअलर्ट घोषित किया है। डीआइजी राजेश पांडेय ने बताया कि गणतंत्र दिवस के मद्देनजर गुरुवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने वीडियो कांफ्रेंसिंग कर अधिकारियों को सतत निगरानी के निर्देश दिए। राष्ट्रीय ध्वज लेकर सीएए के खिलाफ प्रदर्शन करने और ‘हम लेकर रहेंगे आजादी’ नारे पर पूरी तरह पाबंदी लगाई गई है।

चप्पे-चप्पे पर चेकिंग, सुरक्षा के निर्देश : मुख्यमंत्री ने गणतंत्र दिवस को लेकर होटल, लॉज व धर्मशालाओं में रुकने वालों पर पैनी नजर रखने, रोडवेज, रेलवे स्टेशनों पर डॉग स्क्वाड के साथ चेकिंग के निर्देश दिए हैं। खुफिया विभाग को सबसे अधिक चौकन्ना रहने के लिए कहा है। सक्रिय रहने व सतत निगरानी के आदेश दिए।

एलआइयू, आइबी सहित आर्मी इंटेलीजेंस सक्रिय: सीएम के आदेश के बाद शहर में एलआइयू, इंटेलीजेंस ब्यूरो, एटीएस के साथ ही आर्मी इंटेलीजेंस भी सक्रिय हो गई है। कांफ्रेंसिंग के बाद एडीजी अविनाश चंद्र, डीआइजी राजेश पाण्डेय व एसएसपी शैलेश पाण्डेय ने सुरक्षा व निगरानी के लिए रूपरेखा तय की। खुराफातियों को अभी से चिह्न्ति किया गया है। पीस कमेटी की बैठकें थाना स्तर पर शुरू हो गई हैं।

मिश्रित आबादी वाले इलाके पर अधिक सतर्कता: शासन से आए निर्देश के बाद अधिकारियों ने मिश्रित आबादी वाले इलाकों को चिह्न्ति किया है। इन जगहों पर अतिरिक्त सुरक्षा के साथ सतर्कता बरतने की हिदायत मातहतों को दी गई है। खुफिया विभाग को किसी भी संदिग्ध व्यक्ति या गतिविधि की सूचना देने के निर्देश हैं।

 

Posted By: Ravi Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस