जेएनएन, बरेली : पूर्व केंद्रीय मंत्री चिन्मयानंद पर दुष्कर्म का आरोप लगाने वाली छात्रा के पिता ने भाजपा सरकार पर सनसनीखेज आरोप लगाया है। उनका कहना है कि अगर मेरी बेटी उप्र या फिर भाजपा शासित राज्य में पकड़ी गई होती तो उसे मार डाला जाता। वह भाजपा सरकार से जान बचाकर पहले दिल्ली गई थी और फिर वहां से राजस्थान चली गई। जहां कांग्रेस की सरकार थी।

काॅलेज मे ही मार देते गुंडे                                                                                                                

रुहेलखंड विश्वविद्यालय में अपनी बेटी और बेटे का दाखिला कराने पहुंचे थे। उन्होंने कहा कि जिन लोगों पर रंगदारी मांगने का आरोप लगाकर पकड़ा गया है वे मेरी बच्ची के सीनियर और दोस्त थे। आरोप लगाया कि अगर वे मेरी बेटी की मदद नहीं करते तो चिन्मयानंद के गुंडे उसे कॉलेज में ही मार डालते।

सीबीआइ जांच की करेंगे मांग

मेरी बेटी को कॉलेज से निकालकर यहां से राजस्थान तक ले गए। उन्होंने एसआइटी की जांच पर भी सवाल खड़े किए। कहा कि एसआइटी दो माह से केवल फिरौती मांगने के केस को जानबूझकर खींच रही है। बोले, अभी मैं एसआइटी की रिपोर्ट का इंतजार कर रहा हूं। अभी तक एसआइटी ने दुष्कर्म के मामले में कोई जांच नहीं की है। अगर जरूरत पड़ी तो वह सीबीआइ जांच की मांग भी करेंगे।

चिन्मयानंद प्रभावशाली, डर शुरू से बना हुआ है

छात्रा के पिता ने कहा कि चिन्मयानंद प्रभावशाली व्यक्ति हैं। एफआइआर के बाद से छात्रा और उनके परिवार पर खतरा बना हुआ है। रंगदारी के मामले में कहा कि यह मेरे परिवार के साथ बड़ा षडयंत्र है।  

Posted By: Abhishek Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस