जेएनएन, बरेली : दुष्कर्म के आरोप में चिन्मयानंद को जेल भेज दिया गया। पांच करोड़ की रंगदारी मांगने के तीन आरोपित भी अब सलाखों के पीछे हैं, इस प्रकरण में छात्र का नाम भी शामिल है। ऐसे में अब कभी भी उसकी गिरफ्तारी की संभावना जताई जा रही। शनिवार को पूरे दिन छात्र के घर में गहमागहमी रही। वहीं, छात्र के पिता का कहना है कि एसआइटी ने रंगदारी प्रकरण में उनकी बेटी को बेवजह फंसाया है। दबाव बनाने के लिए यह कार्रवाई की गई है।

दवाब बनाने का लगाया आरोप 

छात्र का कहना है कि उसके ऊपर लगाए गए सभी आरोप गलत हैं। संजय, दुर्गेश और सचिन ने किससे व कितनी रंगदारी मांगी, इसकी जानकारी नहीं है। मेरा नाम इस मुकदमे में इसलिए शामिल किया गया ताकि मुझ पर व मेरे परिवार पर दबाव बनाया जा सका, हम चिन्मयानंद के खिलाफ मजबूत पैरवी न कर सकें।

वकीलों से छात्र के पिता ने की राय मशवरा 

शनिवार को छात्र के पिता ने अपने वकीलों से घंटों राय मशवरा किया। कहा कि बेटी का उत्पीड़न हुआ और उसी को आरोपित बनाने की जो साजिश है, उसे सफल नहीं होने देंगे। बेटी को बचाने के लिए जान लड़ा देंगे। उधर छात्र के घर के बाहर मीडिया का जमावड़ा लगा रहा। एहतियात के तौर पर वहां सुरक्षा इंतजाम कड़े कर दिए गए हैं।

ये है मामला

25 अगस्त को चिन्मयानंद के अधिवक्ता ओम सिंह की ओर से मुकदमा दर्ज कराया गया था। जिसमें कहा कि 22 अगस्त को चिन्मयानंद के मोबाइल पर किसी अनजान नंबर से वाट्सएप मैसेज आया। जिसमें लिखा था कि पांच करोड़ की रंगदारी नहीं देने पर बदनाम कर देंगे। इसके बाद दस सितंबर को एक वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें चार युवक व लड़की बात करते दिखाई दे रहे। उसी रंगदारी प्रकरण से जोड़ा गया था।

आरोपितों पर इन धाराओं में दर्ज है रिपोर्ट

एसआइटी ने रंगदारी में चार आरोपितों को नामजद किया है। जिसमें संजय सिंह, सचिन सेंगर, विक्रम उर्फ दुर्गेश व छात्र को नामजद कराया गया। चूंकि छात्र ने चिन्मयानंद पर दुष्कर्म का आरोप लगाया है, इसलिए उसकी पहचान छिपाते हुए असल नाम के बजाय मिस-ए लिखा गया है। चारों पर रंगदारी मांगने की धारा 385, धमकी देने की धारा 506 व सुबूत नष्ट करने की धारा 201 और 67 आइटी एक्ट के तहत कार्रवाई की गई।

चिन्मयानंद से रंगदारी मांगने के आरोप में छात्र को भी मुकदमे में शामिल किया गया है। यह कार्रवाई एसआइटी की ओर से की गई है। आगे भी जो कार्रवाई होगी, वह एसआइटी ही करेगी।

-दिनेश त्रिपाठी, एएसपी सिटी

Posted By: Abhishek Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप