बरेली, जागरण संवाददाता। Blackmailer couple trapped: एससी-एसटी एक्ट (SC-ST Act) के बाद अब धारा 354 के दुरुपयोग का मामला सामने आया है। आरोप है कि एक महिला अवैध वसूली के लिए अपने पति के साथ मिलकर लोगों पर 354 यानी छेड़छाड़ की  धारा (Molestation case,) में मुकदमा कराती है, फिर समझौते के लिए रकम मांगती है। हालांकि, मामला खुलने पर एसएसपी (SSP Bareilly) के आदेश आरोपित महिला व उसके पति (Blackmailer couple) पर बरादरी थाने में अवैध वसूली का मुकदमा लिखा गया है।

महिला अब तक कैंट, कोतवाली व बारादरी थाने में पांच एफआइआर करा चुकी है। इसमे तीन मुकदमे में एक ही पक्ष तथा दो मुकदमे में दूसरा पक्ष नामजद है। एक में उसके द्वारा समझौता भी कर लिया गया। दंपती के फर्जीवाड़े का शिकार युवक सभी प्रपत्रों के साथ एसएसपी के पास पहुंचा तो वह भी हैरान रह गए। एसएसपी के आदेश पर महिला के साथ फर्जीवाड़े में शामिल उसके पति पर अवैध वसूली की धारा में बारादरी पुलिस ने रिपोर्ट लिख ली है। आरोपित सोनू जेम्स व दीपा जेम्स ईसाई पुलिया के निवासी हैं।

सिठौरा के रिंकू कनौजिया ने एसएसपी को बताया कि उन्होंने ईसाई पुलिया के पास नेहा जैकब से एक मकान लेकर वहां पर कार्यालय बनाया। पड़ोसी दंपती सोनू जेम्स व दीपा जेम्स ने 25 हजार रुपये प्रतिमाह की मांग की। धमकी दी कि यदि रुपये नहीं मिले तो तुम्हारे साथ कार्यालय में आने वाले लोगों की जिंदगी तबाह कर देंगे।

रुपये देने से इन्कार करने पर दीपा ने एक के बाद एक तीन मुकदमे दर्ज करा दिए। दो मुकदमे बारादरी थाने में उसके साथ साथी नीरज पटेल, सजल, राहुल गुप्ता, राजू मौर्या के विरुद्ध छेड़खानी व अन्य धाराओं में लिखाया, जबकि तीसरा मुकदमा कोतवाली में लिखा दिया। दीपा जेम्स ने कैंट में सुनील सैमुअल व अन्य के विरुद्ध दो फर्जी मुकदमे कराए।

साल 2018 में उसने पहले मुकदमे में सुनील सैमुअल के साथ उसके भाई गौरव व अज्ञात को नामजद कराया। साल 2020 में कैंट थाने में ही सुनील सैमुअल, गौरव, मोंटी व मक्खन लाल पर मुकदमा कराया। इसमें सुनील सैमुअल की मौत भी हो चुकी है। फिलहाल, अब दोनों अपने ही बुने जाल में फंस गए हैं। 

एसएसपी सत्‍यार्थ अनिरुद्ध पंकज ने बताया कि फर्जी मुकदमे लिखवाने वाले लोगों को लगातार चिह्नित किया जा रहा है। ऐसे लोगों के विरुद्ध कार्रवाई सुनिश्चित कराई जाएगी। इस मामले में आरोपित महिला व उसके पति के खिलाफ मुकदमा लिखवाने के साथ उनकी गिरफ्तारी के आदेश दिए हैं।

Edited By: Vivek Bajpai