बरेली, जेएनएन। Badaun-Bareilly Road News : बदायूं की ओर अगर लालफाटक क्रासिंग होते हुए जाना है तो विचार बदल लीजिए। सड़क के गड्ढे आपकी पसलियों में दर्द कर देंगे। अगर थोड़ा भी गलती हुई तो हादसे का भी शिकार हो सकते हैं। लालफाटक पुल के आगे सड़क के सीने पर जबरदस्त गड्ढे आपके सफर में खलल डाल देंगे। बारिश के बाद तो इन गड्ढों का हाल और भी बुरा हो गया है। पानी भरने से कई जगह गड्ढे दिखाई ही नहीं दे रहे हैं। इनमें गिरकर वाहन खराब हो रहे हैं और राहगीरों को तकलीफ हो रही है। शनिवार को जागरण की टीम ने लालफाटक पुल से रामगंगा तिराहे तक सड़क का जायजा लिया। करीब चार किलोमीटर की सड़क पर छोटे-बड़े साढ़े तीन सौ से अधिक गड्ढे मिले। इस पर निकलने वाले खुद परेशान थे, उनके वाहनों की भी दुर्दशा हो रही थी।

करीब डेढ़ साल से खराब है सड़क 

लालफाटक होते हुए बदायूं की ओर जाने वाला रोड थोड़ा छोड़ा पड़ता है। इसके साथ ही शहर से तमाम वाहन इसी रोड से निकलते हैं। वाहनों की अधिकता के कारण सड़क के हाल पिछले करीब डेढ़ साल से काफी खराब है। सड़क पर कई जगह गहरे गड्ढे हो गए हैं। गहरे गड्ढों की संख्या ही करीब सौ है। साल भर से पीडब्ल्यूडी के अधिकारी सड़क के चौड़ीकरण व सुंदरीकरण के लिए शासन को एस्टीमेट भेज रहे हैं।

मार्च में शासन से मिली स्वीकृति, अब तक निर्माण नहीं 

लालफाटक पुल के आगे से रामगंगा पुल के पहले तक करीब 4.3 किलोमीट सड़क के चौड़ीकरण व सुदृढ़ीकरण का पीडब्ल्यूडी ने करीब 38.87 करोड़ रुपये का एस्टीमेट तैयार किया था। इसमें बिजली की लाइनों, पोल के साथ ही पेड़ों को भी शिफ्ट करने का एस्टीमेट भी शामिल है। शासन ने मार्च में ही एस्टीमेट स्वीकृत कर दिया था। अब तक सड़क का निर्माण कार्य शुरू नहीं किया गया है।

गाजियाबाद की फर्म को मिला है काम

शासन ने पीडब्ल्यूडी को करीब एक महीने पहले सड़क निर्माण के लिए बजट आवंटित कर दिया था। पीडब्ल्यूडी ने टेंडर प्रक्रिया भी पूरी कर ली है। गाजियाबाद की एक फर्म को सड़क चौड़ीकरण व सुदृढ़ीकरण का काम दिया गया है। करीब 15 दिन पहले टेंडर हो चुके हैं, लेकिन अब तक सड़क निर्माण का काम शुरू नहीं किया गया है।

सड़क के चौड़ीकरण व सुदृढ़ीकरण के लिए करीब महीना भर पहले ही शासन से बजट मिला है। इसके बाद टेंडर प्रक्रिया पूरी कराई गई है। जल्द अनुबंध कर सड़क निर्माण का काम शुरू कराया जाएगा। शैलेंद्र अवस्थी, सहायक अभियंता, लोक निर्माण विभाग

Edited By: Ravi Mishra