बरेली, जेएनएन। Bua Bhateeja Drowning Case : यूपी के शाहजहांपुर की गर्रा नदी में डूबे बुआ भतीजे के शव 28 घंटे बाद घटना स्थल से डेढ़ किमी दूर बरामद हो गए। दोनों सोमवार सुबह करीब दस बजे नहाते समय डूब गए थे। जिसके बाद से पीएसी के गोताखोर व एसडीआरएफ भी तलाश कर रही थी।

रोजा थाना क्षेत्र के अटसलिया गांव निवासी ग्रामीण धार्मिक अनुष्ठान के लिए शहर के चौक कोतवाली क्षेत्र के गर्रा नदी में जल भरने गए थे। सुबह करीब दस बले हीरालाल की 17 वर्षीय बेटी मनु नहाते समय डूब गई थी। परिवार के वीरपाल का 12 वर्षीय बेटा अंकित बुआ को बचाने पहुंचा तो वह भी डूब गया। इसके बाद बरेली से पीएसी के गोखोर व एसडीआरएफ को बुलाया गया था। सोमवार देर रात पीएसी के गोताखोर तो वापस चले गए थे। लेकिन एसडीआरएफ की टीम दिन भर मशक्कत करती। शाम करीब चार बजे दोनों के शव ग्रामीणों ने घटना स्थल से करीब डेढ़ किमी दूर देखे। जिसके बाद एसडीआरएफ की टीम ने दोनों को नदी से बाहर निकाल लिए। दोनों के शव एक साथ देख चीख पुकार मच गई।

- देर रात तक स्वजन करते रहे तलाश

सोमवार को टीम के जाने के बाद भी मनु व अंकित के स्वजन नदी किनारे-किनारे तलाश करते रहे। मंगलवार को भी जब तक शव नहीं मिले तब तक भूखे-प्यासे महिलाएं व बच्चे भी वहां मौजूद रहे। इसके अलाव गांव के लोग व रिश्तेदारों की भी भीड़ नदी किनारे लगी रही।

इकलौती बेटी थी मनु

विद्युत संविदाकर्मी हीरा लाल की मनु इकलौती बेटी थी। बहन की मौत के बाद भाई रामतीर्थ, राममिलन व मां निर्मला का रो-रोकर बुरा हाल है। बेटी न मिलने पर मंगलवार को भी निर्मला ने कई बार नदी में खुद छलांग लगाने का प्रयास किया। जबकि अंकित दो भाइयों में छोटा था।

घटना स्थल से करीब डेढ़ किमी दूर दोनों के शव मिल गए है। स्वजन ने पोस्टमार्टम कराने के लिए कहा है। -संजय कुमार, एएसपी सिटी

Edited By: Ravi Mishra