मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

बरेली, जेएनएन : एमजेपी रुहेलखंड विश्वविद्यालय कैंपस में इंजीनियङ्क्षरग और मैनेजमेंट की कक्षाएं शुरू होते ही नए छात्रों को तंग किए जाने की घटनाएं सामने आने लगी हैं। बुधवार को बीटेक तीसरे-चौथे वर्ष के कुछ छात्रों ने एमबीए के छात्रों को रोककर उन पर रौब झाडऩे की कोशिश की। जूनियरों की हरकत से बिफरे एमबीए के छात्र उनसे भिड़ गए। विवाद की भनक लगते ही विवि का स्टॉफ पहुंचा और मामला शांत कराया।

घटना बुधवार दोपहर की है। एमबीए के छात्र हॉस्टल जा रहे थे। मुख्य छात्रावास के पास बीटेक के कुछ छात्र बैठे थे। आरोप है कि उन्होंने एमबीए के छात्रों को रोककर उनका परिचय लेने का प्रयास किया। इसमें एमबीए के कुछ छात्र बीटेक के छात्रों को जानते थे। उन्होंने सवाल किया कि हम, आपसे सीनियर है, आप लोग कैसे हमारे साथ ऐसी हरकत कर सकते हैं। इस पर बीटेक का एक छात्र बोला कि हम यहां तीन साल से पढ़ रहे हैं, इसलिए सीनियर हम हैं। तुम नए आओ हो। इसी को लेकर दोनों कक्षाओं के छात्रों में विवाद शुरू हो गया। सुरक्षाकर्मी पहुंचे। विवि के कुछ कर्मचारी भी पहुंच गए। बीटेक के छात्रों को फटकार भगाया।

हॉस्टल में आउट साइडर्स
एमबीए के छात्रों को रोकने वाले बीटेक के छात्र नॉन हॉस्टलर हैं। छात्रों के मुताबिक वह ज्यादातर समय हॉस्टल में ही बिताते हैं। यही नए छात्रों को परेशान करते हैं।

बरेली कॉलेज में हुई रैगिंग
मंगलवार को ही बरेली कॉलेज में बीसीए की छात्रा के साथ रैगिंग का मामला सामने आया था। छात्रा की शिकायत पर बीबीए पांचवें सेमेस्टर के छात्र को कॉलेज प्रशासन ने 15 दिन के लिए निलंबित कर दिया है। इसके दूसरे दिन रुविवि में यह घटना घटी है।

रैगिंग को लेकर नहीं जागरूकता
शैक्षिक सत्र की शुरुआत में ही यूजीसी ने रैगिंग और भेदभाव को लेकर विवि से अलग सेल बनाने व जागरूकता फैलाने को कहा था। इसका पत्र भी जारी हुआ। कॉलेज-विवि में पढ़ाई शुरू हो चुकी है। मगर यहां रैगिंग, जाति-धर्म के भेदभाव को लेकर कोई जागरूकता कार्यक्रम नहीं चला, न ही कोई कार्यक्रम आयोजित कर विद्यार्थियों को ऐसी घटनाओं में शामिल होने पर कार्रवाई के लिए चेताया गया है।

घटना की जानकारी नहीं मिली है। वार्डन से पूछा जाएगा। अगर कोई छात्र किसी को तंग करता है। उसका रास्ता रोकता है या किसी दूसरे तरह से परेशान करता है, तो उसके विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की जाएगी। -प्रो. एके जेटली, चीफ वार्डन रुविवि  

Posted By: Abhishek Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप