बरेली, जेएनएन : नगर निगम अफसरों और पार्षदों की तल्खी बोर्ड बैठक में भी दिखी। 22 अगस्त को स्थगित हुई बैठक गुरुवार को साढ़े छह घंटे चली। जिसमें अफसरों के लगाए स्मार्ट सिटी, नालों की सफाई और डोर टू डोर कूड़ा कलेक्शन के लिए बजट बढ़ोतरी के प्रस्ताव पार्षदों ने खारिज कर दिए।

कहा कि पहले इन्हें कार्यकारिणी में रखा जाए। महापौर ने इस पर हामी भरी। जिसके बाद इन तीनों अहम प्रस्ताव पर चर्चा नहीं हुई। हालांकि सेंट्रल जेल से सटकर नया बस अड्डा बनाने, टैक्स में रियायत के प्रस्ताव पास हो गए। शहर का चौकी चौराहा अब अटल चौक और डेलापीर चौराहा अभिनंदन चौक के नाम से जाना जाएगा।

नगर निगम के सभागार में बोर्ड की बैठक गुरुवार दोपहर तीन बजे से शुरू हुई। बैठक में सभापति महापौर डॉ. उमेश गौतम के निर्देश पर बैठक की कार्रवाई शुरू हुई। बैठक में पिछली बैठक की कार्रवाई की पुष्टि हुई। फिर नगर निगम अफसरों के लगे प्रस्तावों पर चर्चा हुई। इसमें सेंट्रल जेल के पास की रिक्त भूमि पर नया बस अड्डा बनाने की बात हुई। इस पर भाजपा पार्षदों समेत कुछ पार्षदों ने प्रस्ताव अधूरा होने की बात कही।

नगर निगम अफसरों ने पेपर फाइल में लगे होने का तर्क दिया। कुछ पार्षदों ने प्रस्ताव स्वीकृत होने की बात कही। महापौर ने भी यही कहा जिसके बाद सभी ने प्रस्ताव पर सहमति जताई। इसी तरह ग्राम खड़ौआ में स्वास्थ्य केंद्र के प्रस्ताव को भी मंजूर किया गया। इसके बाद स्मार्ट सिटी की विभिन्न परियोजनाओं के लिए सदन से अनापत्ति लेना, नालों की सफाई के साथ ही डोर टू डोर कूड़ा कलेक्शन का कार्य एजेंसियों से कराने के लिए बजट वृद्धि काप्रस्ताव रखा गया। जिस पर पार्षद बिफर गए।

कहा कि स्मार्ट के सभी प्रस्ताव एक ही प्रस्ताव में नहीं रखे। प्रत्येक का विस्तृत प्रस्ताव अलग बनाए। ऐसे ही बजट संबंधी प्रस्ताव भी आम बैठक में नहीं रखे। सभी प्रस्ताव पहले कार्यकारिणी में रखे जाएं। इससे यह तीनों प्रस्ताव पास नहीं हो सके।
अटल बिहारी मार्ग होगा चौकी चौराहा से चौपुला रोड
बैठक में उपसभापति अतुल कपूर, सपा पार्षद राजेश अग्रवाल ने चौकी चौराहा से चौपुला चौराहा मार्ग का नाम पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर रखने का प्रस्ताव दिया। सदन में यह प्रस्ताव सर्वसम्मति से स्वीकृत हुआ। महापौर डॉ. उमेश गौतम ने बताया कि अब चौकी चौराहा अटल चौक के नाम से जाना जाएगा।
अनुपूरक प्रस्ताव को दी स्वीकृति
बैठक में एजेंडे में नगर निगम अफसरों ने एक अनुपूरक प्रस्ताव भी लगाया। यह विज्ञापन एजेंसियों से संबंधित था, जिसको सदन ने सर्वसम्मति से स्वीकृत किया। इस पर सपा पार्षद राजेश अग्रवाल ने आपत्ति जताई। उन्होंने महापौर से इसका कड़ा विरोध किया। उन्होंने इसके खिलाफ मोशन देने की बात कही।
राजेंद्र नगर में चलेगा अतिक्रमण अभियान
राजेंद्र नगर में वीर शिवाजी चौक (शील चौराहा) से स्वयंवर बरातघर तक अतिक्रमण हटाओ अभियान चलेगा। यह कार्रवाई सात सितंबर से पहले होगी। 91(2) के इस प्रस्ताव पर महापौर ने अतिक्रमण प्रभारी को सड़क के दोनों तरफ से अवैध ठेलों आदि को हटवाने को कहा।
अभिनंदन चौक पर लगेगी कर्पूरी ठाकुर की प्रतिमा
भाजपा पार्षद सतीश कातिब ने बताया कि बैठक में 91(2) के प्रस्तावों पर चर्चा के दौरान डेलापीर चौराहा का नाम अभिनंदन चौक रखने पर सहमति बनी। उन्होंने बताया कि इसके साथ ही यहां पर कर्पूरी ठाकुर की प्रतिमा भी लगेगी, जो कि संस्था अपने खर्चे पर लगवाएगी।
लोगों को मिलेगी टैैक्स जमा करने पर राहत
बैठक में 91(2) के प्रस्तावों पर चर्चा के दौरान लोगों को टैक्स जमा करने पर छूट देने के प्रस्ताव पर भी सहमति बनी। इसमें एक सितंबर से 30 सितंबर तक अग्रिम टैक्स जमा करने पर लोगों को 10 प्रतिशत और एक अक्टूबर से 31 अक्टूबर तक यह छूट पांच प्रतिशत रहेगी। इस पर सर्वसम्मति बनी।

ये प्रस्ताव भी हुए स्वीकृत

  • सत्या पेट्रोल पंप की लीज स्वीकृत
  • सेवा निवृत्त हो चुके कर संग्रह कर्मचारियों को फिर से रखने पर सहमति बनी। इसके नोडल नगर आयुक्त होंगे।
  • स्कूल और कॉलेजों के पास नहीं होगी गुटखा आदि की दुकानें
  • विकास संबंधी सभी प्रस्ताव बजट की उपलब्धता पर पूर्ण कराए जाएंगे।
  • न्यायालयों में लंबित नगर निगम के संपत्ति विवादों में उचित और मजबूत पैरवी।

बैठक में सेंट्रल जेल की जमीन पर बस अड्डा निर्माण, टैक्स में रियायत, चौकी चौराहा अटल चौक और डेलापीर चौराहा अभिनंदन चौक बनाने पर सहमति बनी। इसके अतिरिक्त स्मार्ट सिटी के सभी प्रस्ताव अलग अलग बनाने और पहले कार्यकारिणी में रखने को कहा। ऐसे ही बजट संबंधी नालों की सफाई और डोर टू डोर कूड़ा कलेक्शन पर नियमानुसार कार्रवाई की बात कही गई। - डॉ. उमेश गौतम, महापौर
नगर निगम है जमीन का कस्टोडियन
सेंट्रल जेल के पास पड़ी खाली जमीन राज्य सरकार है मगर नगर निगम इसका कस्टोडियन है। परिवहन विभाग को इस जमीन पर नैनीताल की ओर जाने वाली बसों के लिए स्टैंड बनाना था। जगह देख ली थी मगर कस्टोडियन होने के कारण नगर निगम से हरी झंडी मिलना आवश्यक थी। इसी वजह से यह प्रस्ताव बोर्ड की बैठक में रखा गया जोकि पास हो गया।  

Posted By: Abhishek Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप