जेएनएन, बरेली : बालजती इंटर कालेज में हुई गोष्ठी में मंच पर चढ़ने की होड़ और फैली अव्यवस्था को लेकर प्रदेश अध्यक्ष का पारा चढ़ गया। हालांकि उन्होंने जन गोष्ठी के दौरान तो कुछ नहीं कहा लेकिन जब पार्टी कार्यालय में बैठक हुई, तो पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं को जमकर नसीहत दी।

गोष्ठी के बाद प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह ने पार्टी कार्यालय में बैठक की। यहां पर उन्होंने पहले पदाधिकारियों, विधायकों, सांसद, महापौर और कार्यकर्ताओं को पहले एक बिल्ली और दो भाई की कहानी सुनाई। इसके बाद कहा कि आप लोगों से कहा जाता है कि गांव जाओ तो आप लोग एक सेक्टर की बैठक करके चले आते हो। समाधान करने की बजाय समस्या ज्यादा बताते हो। पार्टी को समस्या नहीं समाधान चाहिए। अध्यक्ष बोले दस साल हो गए लेकिन नेतृत्व क्षमता नहीं विकसित कर पाए। मंच सही नहीं है। माइक सही से काम नहीं कर रहा है। चित्र कैसे रखना है पता नहीं है। अनुशासन है नहीं। चार मंडल अध्यक्ष ज्ञापन देने के लिए मंच पर चले आते हैं। ऐसे ही बनोगे बड़े नेता।

मोहल्ले वाले ही नहीं जानते

उन्होंने कहा कि कई मंडल अध्यक्ष ऐसे होंगे, जिन्हें उनके मोहल्ले वाले ही नहीं जानते होंगे लेकिन बनना चाहते हैं बड़ा नेता। जो भी पदाधिकारी हैं। वह अपने अपने मोहल्ले वालों को खाने पर बुलाएं और बताएं कि वह पदाधिकारी बन गए हैं। उन्होंने कहा कि शाम सात बजे के बाद कोई भी पदाधिकारी पार्टी कार्यालय में नहीं दिखना चाहिए। इसके साथ बीवी का सम्मान करो और शाम को अपने बच्चों और पत्नी के साथ समय से घर पहुंचे।

छोटी सी बात पर थाने न जाएं

उन्होंने कहा कि कोई भी संगठन का व्यक्ति छोटी सी बात पर थाने न जाए। कोई मामला है तो उसे विधायक देखेंगे। यह उनका विषय है।

हुजूम लेकर न पहुंचे

उन्होंने नसीहत दी कि अगर कोई खाने के लिए बुलाता है तो जितने को बुलाया है। उतने लोग ही जाएं। हुजूम लेकर नहीं पहुंचे। इसके पहले उन्होंने पदाधिकारियों से गांव जाकर सीएए और स्वराज ग्राम योजना के बारे में पूछा तो कई पदाधिकारी जवाब नहीं दे पाए। उन्होंने क्षेत्रीय उपाध्यक्ष हर्षवर्धन के यहां पर पदाधिकारियों की अलग से बैठक की।

मंच पर चढ़ने की होड़

इसके पहले बालजती इंटर कालेज में हुई गोष्ठी में मंच पर चढ़ने को लेकर होड़ मची रही। इतना ही नहीं नेता भाषण सुनने की बजाय सेल्फी लेने में व्यस्त रहे। महिला पदाधिकारी अव्यवस्था और मंच पर सम्मान करने के लिए नहीं बुलाए जाने पर नाराज भी दिखीं।

आजम खान तक पहुंचे गूंज

इसके पहले वह मीरगंज तहसील रोड स्थित एक बरातघर में आयोजित कार्यक्रम में पहुंचे। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि उनके नारे की आवाज व तालियों की गूंज इतनी हो कि रामपुर में बैठे सपा नेता आजम खां के कानों तक पहुंचे। उन्होंने नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) व एनआरसी के बारे में जनता को विस्तार से बताया। विपक्ष पर जमकर निशाना साधा। केंद्र व प्रदेश सरकार की उपलब्धियां गिनाई। कहा कि सीएए को लेकर विपक्ष लोगों में भ्रम फैला रहा है।

मेथी के साग का लिया स्वाद

क्षेत्रीय उपाध्यक्ष हर्षवर्धन आर्य के यहां पर प्रदेश अध्यक्ष ने मेथी के साग और रोटी का स्वाद लिया। यहां पर पदाधिकारियों कार्यकर्ताओं और विधायकों के लिए भी भोजन की व्यवस्था की गई थी। उन्होंने पदाधिकारियों के साथ बैठक करके जरुरी निर्देश दिए। इसके बाद वह भाजपा नेता नीरेंद्र राठौर के यहां थोड़ी देर रुके और फिर सर्किट हाउस के लिए रवाना हो गए।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस