बरेली, जेएनएन : रामगंगा आवासीय योजना के मुआवजा देने में बरेली विकास प्राधिकरण ने नया खेल किया है। कुछ दिन पहले पूरा 55 करोड़ का मुआवजा प्रशासनिक अधिकारियों के खातों में ट्रांसफर करने की बात कहने वाला बीडीए होली तक आधी रकम यानी 27 करोड़ ही किसानों को दे सकेगा। अधिकारियों का कहना है कि भूखंडों के बिकने से मिली रकम का आधा हिस्सा होली के बाद प्रशासकीय अधिकारियों के जरिए किसानों को दिया जाएगा।

बीडीए की महत्वाकांक्षी आवासीय योजना रामगंगा नगर में 16 साल से अटके मुआवजे पर बीडीए ने बड़ी पहल की थी। कुछ दिन पहले बकायदा प्रेसवार्ता के ऐलान किया गया कि भूखंडों को बेचकर करीब 42 करोड़ रुपये बीडीए को मिले हैं। इस रकम का उपयोग बीडीए किसानों का मुआवजा जारी करने में करेगा। इस संबंध में सचिव अम्बरीश श्रीवास्तव ने एक पत्र विशेष भूमि अध्याप्ति अधिकारी को जारी किया है। इसमें 27 करोड़ रुपये उनके खाते में जारी करते हुए किसानों को उचित भुगतान करने के लिए कहा गया है।

हमने 27 करोड़ रुपये पहली किस्त में जारी किये हैं। बाकी मुआवजा भी जल्द किसानों को दिया जाएगा।

- दिव्या मित्तल, उपाध्यक्ष, बीडीए

दर्जनों किसानों को होली पर खुशियां, कुछ होंगे मायूस

किसानों के हक में अच्छी खबर यह है कि 27 करोड़ रुपये जारी किए हैं। होली पर रामगंगा आवासीय योजना के लिए जमीन देने वाले किसानों के लिए राहत देने वाली बड़ी घोषणा है। वही दर्जनों किसानों के लिए यह मायूसी भी हाथ लगी है क्योंकि उन्हें होली के बाद ही मुआवजा मिल सकेगा।

अब नहीं कर सकेंगे खेती

बीडीए ने भले ही किसानों की जमीन का मालिकाना हक लिया हो, लेकिन किसानों को खेती करने दी गई थी। अब बीडीए उपाध्यक्ष दिव्या मित्तल ने स्पष्ट किया है कि इस बार जमीनों पर किसान खेती न करें। क्योंकि अधिग्रहण की औपचारिकता पूरी की जानी है। यहां आवासीय और गैर आवासीय भूखंडों की बिक्री बीडीए कर रहा है।

 

Posted By: Ravi Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस