बरेली, जेएनएन। माथे पर तिलक, हाथ में कलावा बांधने वाला राज सलमान निकला। दो संप्रदायों का मामला होने के बाद भी पुलिस ने मामले की गंभीरता नहीं समझी और महिला के पति की तहरीर पर महज गुमशुदगी दर्ज की। जानकारी के बाद मंगलवार को हिंदू संगठनों ने नवाबगंज थाने में जमकर बवाल काटा। थाने का घेराव कर दिया। इसके बाद पुलिस बैकफुट पर आई और मुकदमे में अपहरण की धारा बढ़ाई।

नवाबगंज के एक गांव के रहने वाला व्यक्ति मजदूरी करता है। दिल्ली में अपने परिवार के साथ रहकर मजदूरी करता था। उसके पड़ोस में ही जनपद पीलीभीत के जहानाबाद थाना क्षेत्र का ही एक युवक रहता था। बताया कि युवक अपना नाम राज बताने के साथ ही माथे पर तिलक लगा हाथ में कलावा बांधता था। दो माह पूर्व उनकी पत्नी दिल्ली से गांव गयी थी। जहां बच्चों को घर पर छोडऩे के बाद वह नवाबगंज जाने की बात कह घर से गयी थी।

इसी के बाद से वह कही लापता हो गयी। इस पर महिला के पति ने थाना नवाबगंज में उसकी गुमशुदगी दर्ज करायी थी। गुमशुदगी दर्ज कराने के बाद पुलिस ने इस मामले को ठंडे बस्ते में डाल दिया। अब महिला के पति को पता चला कि दिल्ली में उससे मिलने वाला राज मुस्लिम है। वह उसकी पत्नी को बहला फुसला कर अपने साथ ले गया है।

उसने इसकी जानकारी पुलिस को दी लेकिन, पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की जिससे गुस्साए जागरण हिन्दू मंच ने थाने में धरने पर बैठ गए और प्रदर्शन किया। इसी के बाद पुलिस बैकफुट पर आई और आरोपित सलमान उर्फ राज निवासी ग्राम पंसोली थाना जहानाबाद पीलीभीत के खिलाफ अपहरण की धारा में मुकदमा दर्ज किया।

प्रदर्शन करने वालों में हिंदू जागरण मंच के जिला अध्यक्ष अरुण कुमार फौजी, उपाध्यक्ष हरपाल गंगवार, अशर्फी लाल गंगवार एडवोकेट, प्रतिपाल सिंह, महेंद्र सिंह, रामस्वरुप कश्यप आदि थे।

आरोपित के खिलाफ अपहरण की धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। उसकी तलाश कराई जा रही है।- अशोक कुमार काम्बोज, इंस्पेक्टर, नवाबगंज

Edited By: Ravi Mishra