बरेली, जागरण संवाददाता। Bareilly Smart City Bank And ATM Security Work Plan : बरेली स्मार्ट सिटी परियोजना (Bareilly Smart City Project) के तहत चल रहे विकास कार्य समय से पूरे हों इसके लिए नवागत मंडलायुक्त खुद कमान संभालती नजर आ रही हैं।

गुरुवार को पांच घंटे से अधिक समय तक आइसीसीसी में एक-एक प्रोजेक्ट के बारे में पूरी गहनता से देख कमियों को दुरूस्त करने के निर्देश दिए। इस दौरान उन्होंने हर बुधवार को स्मार्ट सिटी के आफिस में रुककर समीक्षा करने की बात भी कही।

मंडलायुक्त सारिका माेहन ने इंटीग्रेटेड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर (आइसीसीसी) में स्मार्ट सिटी के ट्रैफिक व्यवस्था, इमरजेंसी काल बाक्स, वाइफाई, सालिड वेस्ट मैनेजमेंट, विजुअल मैसेजिंग डिस्प्ले व ट्यूबवेल आटोमोड में किए जाने की गहनता के साथ समीक्षा की।

अपराधिक घटनाओं पर और सख्ती के लिए एसपी ट्रैफिक को बैंक व एटीएम को कंट्रोल सेंटर से जोड़ने के निर्देश दिए। व्यावसायिक काम्पलेक्स टांगा स्टैंड को नवंबर माह तक गुणवत्ता के साथ पूरा करने और स्मार्ट सिटी की रैंकिंग (Smart City Ranking) बढ़ाने के लिए खुद अगुवाई करने की बात कही।

इस दौरान स्मार्ट सिटी की कार्यकारी अधिाकरी निधि गुप्ता वत्स बताया कि 63 में 33 परियोजनाएं पूरी हो चुकी है। 30 परियोजना का काम 28 दिसम्बर तक पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। दो मार्च तक कुतुबखाना ओवरब्रिज व अर्बन हाट के कार्य को भी पूरा करने का भरोसा दिया। अपर आयुक्त अरूण कुमार, अपर नगर आयुक्त सर्वेश कुमार गुप्ता, एसीईओ स्मार्ट सिटी सुनील कुमार यादव, मुख्य अभियंता बीके सिंह मौजूद रहे।

खुद चलकर मंडलायुक्त से मिलने पहुंचे महापौर

मंडलायुक्त ने आइसीसीसी में विकासकार्यों की समीक्षा के बाद नगर आयुक्त निधि गुप्ता वत्स के कार्यालय में पहुंची। वहां उन्होंने महापौर से मिलने की इच्छा जताई। इस पर नगर आयुक्त निधि गुप्ता स्वयं महापौर को लेकर मंडलायुक्त से मिलाया। महापौर डा. उमेश गौतम ने कहा कि मंडलायुक्त से स्मार्ट सिटी के कार्यों को लेकर सकारात्मक बातचीत हुई है। वह आने वाले दिनों में शहर के साथ जिले को भी विकास के पथ पर ले जाएंगी।

Edited By: Ravi Mishra

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट