बरेली, जागरण संवाददाता। Smart City News : स्मार्ट हो रहे शहर में सड़कों का चौड़ीकरण किया जा रहा है। सड़के भले ही अभी पूरी तरह से चौड़ी न हो सकी हो, लेकिन निर्माण दाई फर्म की ओर से शहर की सड़कों के किनारे लगे 100 से अधिक पेड़ों पर आरी चला दी गई है।

डेलापीर चौराहा स्थित पेट्रोल पंप के आगे तीन पेड़ों को काट दिया गया। बिना अनुमति पेड़ काटे जाने की शिकायत किसी ने वन विभाग से की। सूचना पर वन विभाग के लोग पहुंचे और काटे जा रहे पेड़ों को रोका। अधिकारियों के पहुंचने तक पेड़ों की जड़ तक काट दी गई थी। वन विभाग के लोगों ने पेड़ कटान की अनुमति मांगी तो कोई दिखा नहीं सका।

वन विभाग अब इस प्रकरण में वन एक्ट के तहत कार्रवाई करने की बात कह रहा है। मंगलवार शाम को वन विभाग के अधिकारियों को सूचना मिली कि बीडीए द्वारा मजदूर लगाकर डेलापीर चौराहे के पास सड़क किनारे पेड़ों का बिना अनुमति के काटा जा रहा है। जानकारी पर क्षेत्रीय वनाधिकारी बरेली रेंज हरीश मेहता, वन दारोगा योगिता मौके पर पहुंची।

अधिकारियों ने बताया कि वे जब मौके पर पहुंचे तो शहतूत, पीपल और पाकड़ के विशालकाय पेड़ों को काटा जा चुका था। पेड़ कटान की अनुमति मांगी गई तो अनुमति नहीं दिखा पाए। इसके बाद वन विभाग के अधिकारियों ने पेड़ों के कटान का कार्य रुकवा दिया। वन अधिकारियों का कहना था कि मौके पर मौजूद लोग खुद को बीडीए का एई बता रहे थे।

अधिकारियों का कहना है कि पेड़ और जगह दोनों बीडीए की हैं, लेकिन सहायक अभियंता किसी प्रकार की अनुमति मौके पर नहीं दिखा पाए। क्षेत्रीय वनाधिकारी हरीश मेहता ने बताया कि पूरे मामले में बुधवार को वन एक्ट में कार्रवाई की जाएगी। फिलहाल पेड़ कटान को रोक मामले में जांच की जा रही है। 

Edited By: Ravi Mishra

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट