बरेली, जागरण संवाददाता। Bareilly Electric Bus Blast Case Probe : इलेक्ट्रिक सिटी बस में कंप्रेसर फटने से हुई एक मौत व दो घायल मामले की जांच शुरू हो गई है। डीएम की ओर से सिटी मजिस्ट्रेट राकेश कुमार गुप्ता के नेतृत्व में पांच सदस्यीय टीम स्वाले नगर स्थित चार्जिंग स्टेशन पहुंचे।

यहां दुर्घटनाग्रस्त बस की जांच करने के साथ ही सभी चीजों के फोटो, वीडियो लिए गए। यहां मौजूद स्टाफ व चार्जिंग स्टेशन मैनेजर आदि से जानकारी ली। पूरे प्रकरण की टेक्निकल जांच के लिए अब कंप्रेसर का टेक्निकल जानकार की मदद ली जाएगी।

बस निर्माण कंपनी व देखरेख की जिम्मेदारी वाली पीएमआइ कंपनी के टेक्निकल स्टाफ को गुरुग्राम से बुलाया गया है। बता दें कि 22 सितंबर को स्वाले नगर स्थित ई-बस चार्जिंग स्टेशन पर मरम्मत के दौरान एसी का कंप्रेसर फट गया था।इसमें इज्जतनगर के अशोक विहार निवासी मैकेनिक विजय कुमार की मौके पर ही मौत हो गई थी।

जबकि टेक्नीशियन नरेंद्र और सर्विस इंजीनियर बबलू घायल हो गया था। सूचना पर डीएम, एसएसपी और बरेली सिटी बस ट्रांसपोर्ट सर्विसेज लिमिटेड के तत्कालीन सीईओ भी मौके पर पहुंचे थे। मामले में जांच के लिए डीएम शिवाकांत ने तुरंत ही सिटी मजिस्ट्रेट के नेतृत्व में पांच सदस्यी टीम गठित करके 30 सितंबर तक रिपोर्ट मांगी थी।

वहीं दूसरी ओर मृतक विजय के पिता रामपाल ने चार्जिंग स्टेशन के मैनेजर समेत चार लोगों पर गैर इरादतन हत्या के तहत प्राथमिकी लिखाई थी। पूरे प्रकरण में गठित कमेटी अंतिम दिन जांच के लिए पहुंची। शुक्रवार को सिटी मजिस्ट्रेट आरके गुप्ता के नेतृत्व में सभी लोग स्वाले नगर स्थित चार्जिंग स्टेशन पहुंचे।

यहां क्षतिग्रस्त बस का टेक्निकल मुआयना कर मौजूद कर्मचारियों, मैनेजर के बयान लिखे। अधिकारियों का कहना है कि मामले में निष्पक्ष जांच कर रिपोर्ट डीएम को दी जाएगी।

Edited By: Ravi Mishra

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट