बरेली, जेएनएन। Bareilly Nagar Nigam News : बारिश में शहर को जलभराव से बचाने के लिए नगर निगम नालों की सफाई करवा रहा है। हर साल करोड़ों रुपये के नाले जल निकासी के लिए बनाए जा रहे हैं, लेकिन नालों पर बना अतिक्रमण हटाने के लिए सख्ती नहीं की जा रही है। इससे सफाई के साथ ही जल निकासी की समस्या सामने आ रही है।

शहर में छोटे-बड़े करीब सवा सौ नाले हैं। करीब बीस नाले बड़े हैं जो शहर के अधिकतम भाग से होकर गुजरते हैं। सभी नाले अतिक्रमण की जद में हैं। कुछ नालों पर 50 फीसद तक अतिक्रमण है तो कुछ आंशिक रूप से अतिक्रमण की चपेट में हैं। इस कारण सफाई अभियान के दौरान नालों की सफाई ठीक से नहीं हो पाती है और पानी नालों की जगह सड़कों पर बहता है। बाजार में कई जगह दुकानों के बाहर नाले पर अतिक्रमण किया हुआ है।

इससे बारिश का पानी निकलने में देर होती है। शहर में सिकलापुर, चौकी चौराहे से पटेल चौक तक, नावेल्टी चौराहा, रोडवेज रोड, जगतपुर, सैलानी, बदायूं रोड, सौ फुटा रोड, संजय नगर, हरूनगला, पीलीभीत रोड आदि में नालों पर अतिक्रमण किया हुआ है। बारिश होने पर यहां सबसे अधिक जलभराव होता है। नगर निगम यहां अतिक्रमण हटाने के लिए अभियान चलाता है, लेकिन अभियान के कुछ समय बाद ही वहां दोबारा अतिक्रमण हो जाता है।

यही फिर जलभराव का कारण बनते हैं। महापौर डॉ. उमेश गौतम ने बताया कि कई जगह अतिक्रमण नहीं हटाने की शिकायत मिली थी। अधिकारियों व प्रवर्तन दल को अतिक्रमण हटाने को कहा गया, लेकिन अतिक्रमण नहीं हटा। प्रवर्तन दल का काम ठीक नहीं है। इस बाबत नगर आयुक्त को पत्र भेजा है।

Edited By: Ravi Mishra