बरेली, जेएनएन। लॉकडाउन के 58 दिन बाद बाजार खुले तो रंगत दिखी। फुटकर बाजार तो सामान्य रहा मगर कारोबारियों को बड़ी राहत मिली। गोदाम खोल दिए गए। माल दूसरे जिलों के लिए भेजा गया। तय समय के अनुसार शाम छह बजे बाजार बंद होना था। व्यापारियों ने ऐसा खुद ही कर लिया। पुलिस की गाड़ियां घूमी। मगर दुकानें बंद कराने के लिए सख्ती की नौबत नहीं आई। प्रशासन ने रोस्टर बनाकर बुधवार से बाजार खोलने का ऐलान किया था।

इसके अनुसार पहले दिन कपड़ा रेडीमेड फुटवेयर आदि की दुकानें खोली गई। 9:00 बजे से बाजार खुलने का समय था मगर 10:00 बजे तक खुल सका। रविवार को ईद को देखते हुए रेडीमेड कपड़ों की खरीदारी के लिए लोग पहुंचे। व्यापारियों ने बताया कि बरेली में होलसेल रिटेल का बड़ा काम है। रेडीमेड के 105 कपड़ा और 200 से अधिक होलसेलर हैं। जहां से मंडल और उत्तराखंड तक माल की आपूर्ति की जाती है। लाॅकडाउन में काफी नुकसान के बाद ईद से पहले सशर्त मिली अनुमति के बाद काफी राहत मिली है।

औसत रेंज के कपड़ों की मांग

रेडीमेड गारमेंट के साथ ही कपड़ा बाजार में सूट की होलसेल में महंगी वैरायटी की जगह औसत रेंज के कपड़ों की मांग रही। व्यापारियों का कहना था कि लॉक डाउन में लोड कम समय होने के कारण रिटेलर इस बार केवल मीडियम माल की ही डिमांड कर रहे हैं।

ईद में करोड़ों का होता था व्यापार

कपड़ा एसोसिएशन के पदाधिकारियों की मानें तो ईद पर रेडीमेड का व्यापार हर साल 500 से 300 करोड़ तक होता था। जबकि कपड़ा व्यापार 100 करोड रुपए का हर हाल में हो जाता था। लाॅकडाउन में इस बार इसका 30% व्यापार होने का अनुमान लगाया जा रहा है।

होली के तुरंत बाद व्यापारियों ने ईद सहायक को लेकर तैयारियां कर ली थी। ईद का कपड़ा न बिकने पर यह अगले साल के लिए लॉक हो जाता है। जिला प्रशासन ने तीन दिन दुकानें खोलने की अनुमति दी है। ईद तक रोजाना दुकानें खोलने की मांग कर रहे हैं। रोमी सेठ, रेडीमेड व्यापारी

बरेली ट्रेडिंग की बड़ी बाजार है ढाई साै किलोमीटर तक का यहां से एरिया कवर होता है। लॉकडाउन में काफी नुकसान हुआ है। पहले दिन मीडियम रेंज की डिमांड हुई है। हर बार की अपेक्षा इस बार तीस प्रतिशत ही व्यापार होना मुश्किल है। अनुपम कपूर, अध्यक्ष, होलसेल कपड़ा कमेटी

ईद से पहले दुकान खुलने से कुछ रौनक रही। लॉक डाउन की वजह से केवल मीडियम रेंज ही पसंद की गई। शारीरिक दूरी का पालन कराते हुए सभी नियमों का पालन कराते हुए ही ग्राहकों को प्रवेश दिया गया। जिला प्रशासन से ईद तक रोजाना दुकानें खोलने की मांग कर रहे हैं। विभोर गोयल व्यापारी

पहले दिन बहुत अच्छा व्यापार भले ही न रहा हाे मगर सब धीरे-धीरे सब ढर्रे पर आ जाएगा। प्रशासन ने जो नियम तय किए हैं। उनका पालन किया जा रहा है। नरेंद्र गुप्ता रेडीमेड कपड़ा कारोबारी

प्रशासन ने रोस्टर के जरिए व्यापारियों को राहत दी है। पहले दिन भीड कुछ ज्यादा थी। कोरोना संक्रमण से बचने के लिए व्यापारियों के साथ बाजार आने वालों को भी जिम्मेदारी निभानी चाहिए। शारीरिक दूरी बनाकर रखें। राजेंद्र गुप्ता व्यापारी

रोस्टर के जरिए सभी को व्यापार का मौका मिल रहा है। मगर इस वक्त संक्रमण के मामले ज्यादा आ रहे हैं। इसलिए सभी को बचाव के इंतजाम करना चाहिए। व्यापारियों के लिए भी सचेत रहना जरूरी। विशाल मल्होत्रा व्यापारी

अर्थ व्यवस्था को सुचारू रखने के लिए बाजार का खुलना जरूरी था प्रशासन में रोस्टर बनाकर व्यापार का मौका दिया है। कारोबार के बीच कोरोना संक्रमण को लेकर बचाव के तरीके भी अपनाने होंगे। राजेंद्र गुप्ता उद्यमी

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप