बरेली, जेएनएन। कोरोना महामारी से जंग में मुख्य ढाल मानी जा रही कोरोनारोधी वैक्सीनेशन का पहली मंजिल हम पा चके हैं। जिले में लक्षित वयस्क आबादी टीके की डोज से शत-प्रतिशत प्रतिरक्षित हो चुकी है। अब दूसरी मंजिल यानी कि कोरोना रोधी टीका लगवाने की दूसरी डोज का दो तिहाई लक्ष्य लगभग पूरा कर चुके हैं। अब तेजी के साथ किशोर वय और प्रि-काशन डोज का टीकाकरण किया जा रहा है, जिससे के कोराना की बीमारी के गंभीर संक्रमण से प्रतिरक्षित किया जा सके।

जिले में 14 जनवरी को होने वाले विधानसभा चुनावों को ध्यान में रखते हुए शासन ने इससे पहले जिले में शत -प्रतिशत लक्षित वयस्क आबादी को पहली डोज लगाने के निर्देश दिए थे। इसके लिए स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ ही प्रशासनिक टीमों को लगाया गया था। इसका असर यह हुआ कि वैक्सीनेशन में तेजी आ गई। जिले में वैक्सीनेशन एक साल पहले शुरू हुआ था। जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डा. आरएन सिंह ने बताया कि शासन से 32,11,0005 लोगों को टीका लगवाने का लक्ष्य दिया गया था। इसमें 32,23,018 लोगों को 27 जनवरी तक लगा दिया गया, जो लक्ष्य का 100.37 प्रतिशत है। वहीं, 23,25,694 को अब तक कोरोना की दूसरी डोज लगाई जा चुकी है, जो लक्ष्य का 72.43 प्रतिशत है।

24 हजार लोगों को लगाई प्रि-काशन डोज: कोरोनारोधी दोनों डोज ले चुके हेल्थ वर्कर, फ्रंटलाइन वर्कर और 60 उम्र से अधिक एवं गंभीर बीमारियों से ग्रसित 33,425 लोगों को प्रि-काशन डोज लगाया जाना था। इसमें 24076 लोगों को प्रि-काशन डोज लगाई गई, जो लक्ष्य की 72.03 प्रतिशत है। ऐसे में तीन दिन में करीब नौ हजार लोगों को प्रि-काशन डोज लक्ष्य पूरा करने के लिए लगानी होगी।

 यह बोले अधिकारी: कोरोना वैक्सीनेशन की पहली डोज लक्षित वर्ग को शत-प्रतिशत लगाने में पूरी टीम का योगदान रहा। इसके लिए सभी कड़ी मेहनत की।- डा. बलवीर सिंह, मुख्य चिकित्सा अधिकारी, बरेली

Edited By: Vivek Bajpai