बरेली, जेएनएन। Bareilly Crime News : राजमिस्त्री के घर पड़ी डकैती को चोरी में दर्ज करने की जांच सीओ को सौंप दी गई है। अब सीओ की जांच तय करेगी कि राजमिस्त्री के घर डकैती पड़ी थी या चोरी। कैंट पुलिस की कार्रवाई पर सवाल उठे तो मामला एडीजी अविनाश चंद्र तक पहुंचा। एडीजी ने एसएसपी रोहित सिंह सजवाण को जांच के निर्देश दिए। इसके बाद एसएसपी ने सीओ प्रथम यतींद्र सिंह नागर को पूरे प्रकरण की जांच सौंप दी है। तीन दिन के भीतर सीओ एसएसपी को जांच रिपोर्ट सौपेंगे।

पीड़ित राजमिस्त्री मोहम्मद आरिफ कैंट के बुखारा गांव के रहने वाले हैं। शनिवार रात साढ़े 12 बजे के करीब तलवार व तमंचे से लैस कच्छा बनियान गिरोह के बदमाशों ने आरिफ के घर में डकैती डाली। आरिफ व उनकी पत्नी रुकसार को बंधक बना लिया। विरोध पर जान से माने की धमकी दी। इसके बाद तमंचे के बल पर घर में रखी अलमारी खंगाली। अलमारी में रखे सोने के झाले, मांगपट्टी, कंगन, लाकेट, नथ, अंगूठी, कुंडल, पायल व पांच हजार रुपये लूट लिए।

करीब पांच लाख रुपये की डकैती पड़ी। पीड़ित आरिफ ने कैंट पुलिस को घर में डकैती पड़ने की जानकारी दी और तहरीर दी। आरोप है कि कैंट पुलिस ने आरिफ से उस तहरीर के स्थान पर दूसरी तहरीर चोरी होने की लिखवाई और चोरी में रिपोर्ट दर्ज कर ली। मामले की सोमवार को एडीजी तक पहुंची। इसके बाद उन्होंने एसएसपी को जांच के आदेश दिए। एसएसपी ने सीओ प्रथम को जांच सौंप दी।

दूसरे दिन पुलिस ने नहीं ली कोई सुध : कार्रवाई पर सवाल उठने के बाद सोमवार को पुलिस पीड़ित के घर नहीं पहुंची। पीड़ित ने कहा कि उससे पुलिस ने कोई संपर्क नहीं किया। ऐसे में हमें न्याय कैसे मिलेगा। आरिफ का कहना है पुलिस उसे उसका सामान बरामद करवा दें उसे और कुछ नहीं चाहिए। सीओ प्रथम यतींद्रर सिंह नागर ने बताया कि इस संबंध में जांच मिली है। जांच कर रिपोर्ट एसएसपी को सौंपी जाएगी। पीड़ित के साथ गलत नहीं होने दिया जाएगा।

Edited By: Samanvay Pandey