बरेली, जेएनएन। Cheated engineer in the name of KYC : साइबर ठग हर रोज ठगी के नए-नए पैंतरे अपना रहे हैं। अब मोबाइल फोन की केवाईसी के नाम पर ठग ने बीएसएनएल से सेवानिवृत्त डिवीजनल इंजीनियर के खाते से 20 हजार रुपये की रकम साफ कर दी। पीड़ित ने मामले की शिकायत साइबर सेल से की है।

पीड़ित ओमपाल सिंह चौहान ने बताया कि शुक्रवार दोपहर 12 बजे उनके पास फोन आया। फोन करने वाले ने मोबाइल केवाईसी अपडेट न होने की बात कही। कहा कि कोरोना के चलते अब कंपनी ऑनलाइन केवाईसी अपडेट कर रही है। इसके लिए महज दस रुपये का रिचार्ज करना होगा। ओमपाल ने बताया कि महज दस रुपये की बात होने पर हम समझ नहीं पाए कि फाेन करने वाला व्यक्ति ठग है।

उसने ऑनलाइन रिचार्ज की बात कही। इस पर ऑनलाइन ट्रांजेक्शन न करने की जानकारी दी। ठग ने एटीएम नंबर बताने की बात कही। गलती से उसे एटीएम नंबर और पिन बता दिया। जैसे ही खाता नंबर और पिन बताया, खाते में मौजूद 19 हजार 990 रुपये कट गए। ठगी के बाद ओमपाल के खाते में महज 87 रुपये ही बचे हैं। उन्होंने साइबर सेल व बैंक से मामले की शिकायत की है।

आरटीओ की फेसबुक आइडी हैक कर मांगे रुपये : संभागीय परिवहन अधिकारी की हैकरों ने फेसबुक आइडी हैक कर उनकी सूची में जुड़े लोगों से रुपयों की मांग कर रहा है। आरटीओ अनिल कुमार गुप्ता ने बताया कि उनकी आइडी का गलत इस्तेमाल किया जा रहा है। उन्होंने सभी से उनकी आइडी में जाकर रिपोर्ट वाले बटन पर जाकर उसे फेक घोषित करने व सभी से फ्रेंड रिक्वेस्ट स्वीकार न करने की अपील की है।

 

Edited By: Samanvay Pandey