बरेली, जेएनएन। Bareilly Division Review Meeting : धान खरीद में बरेली मंडल प्रदेश में अव्वल रहा है। इसकी प्रतिष्ठा को इस बार भी बनाए रखना है। कहीं भी धान खरीद केंद्र में किसानों को बेवजह परेशान न किया जाए। धान खरीद की प्रक्रिया पूरी तरह से पारदर्शी होनी चाहिए और खरीद प्रक्रिया क्रय नीति के तहत ही हो। यह बातें मंडलायुक्त आर रमेश कुमार ने बुधवार को कमिश्नरी सभागार में धान खरीद की प्रगति को लेकर की मंडलीय समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए कही। मंडलायुक्त ने कहा कि धान खरीद केंद्र पर आया किसान संतुष्ट होना आवश्यक है।

छोटे व मझोले किसान पर अधिक ध्यान देना है। पंजीकृत किसानों के सत्यापन कार्य में तेजी लाने के भी अधिकारियों को निर्देश दिए। आरएफसी जोगिंदर सिंह ने बताया कि मंडल को शासन से इस बार 11 लाख टन धान क्रय का लक्ष्य दिया गया है। इसके लिए मंडल में 477 क्रय केंद्रों की स्थापना की गई है। केंद्रों में 1401 इलेक्ट्रानिक कांटे, 430 नमी मापक यंत्र, 783 छलने, 689 विनोइंग फैन तथा 119 डस्टर की व्यवस्था की गई है। इसके अलावा 594 ई-पोस मशीन उपलब्ध है। जिसका सभी जिले के केंद्र प्रभारियों को प्रशिक्षण दिया जा चुका है।

मंडलायुक्त ने कहा कि मंडल में यदि किसी भी स्थान पर धान खरीद में बिचौलियों, अन्य अवांछित तत्वों के शामिल होने की सूचना मिलती है तो कड़ी कार्रवाई के लिए संबंधित अधिकारियों को तैयार रहना चाहिए। उन्होंने मंडल के सभी अपर जिलाधिकारियों से कहा कि वे धान खरीद की नियमित समीक्षा और नियमित अनुश्रवण करने के निर्देश दिए। मंडल के सभी एसडीएम अपनी तहसील में प्रत्येक शुक्रवार की शाम को धान खरीद की समीक्षा कर उसकी आख्या उन्हें तथा जिलाधिकारी को देने के निर्देश दिए। बैठक में संभागीय खाद्य नियंत्रक जोगिंदर सिंह, अपर आयुक्त अरुण कुमार, मंडल के सभी अपर जिलाधिकारी समेत अन्य मौजूद रहे।

Edited By: Ravi Mishra