बरेली, जेएनएन। कोरोना संक्रमण की पहली और दूसरी लहर में लोगों ने ऑक्सीजन को लेकर कई मुसीबतें झेलीं। लोगों ने दोगुने और तीन गुने दामों में ऑक्सीजन सिलेंडर खरीद कर अपनों को राहत पहुंचाई। कुछ दिन ऐसे भी रहे जब अस्पतालों में ऑक्सीजन खत्म हो गई और मरीजों को ट्रांसफर करना पड़ा। लेकिन कोरोना की तीसरी लहर आई तो इस बार यह परेशानी नहीं उठानी पड़ेगी। इसके लिए पहले से ही तैयार कर ली गई है।

तीन सौ बेड अस्पताल में ऑक्सीजन जेनरेटर प्लांट तैयार हो गया है। यह ऑक्सीजन प्लांट प्रति मिनट एक हजार लीटर आक्सीजन उत्पादन करेगा। इसके अलावा जिले के बहेड़ी और मीरगंज सीएचसी में भी ऑक्सीजन प्लांट लगाया जा रहा है। इसके अलावा मिलेट्री हास्पिटल और इफको में भी ऑक्सीजन प्लांट तैयार किए जा रहे हैं। इसके अलावा सीएचसी में ऑक्सीजन सप्लाई के लिए पाइप लाइन बिछाई जा रही हैं। इसमें आवंला में काम भी शुरू हो गया है। शासन ने ऑक्सीजन प्लांट स्थापित होने की स्थिति और जिले में वर्तमान ऑक्सीजन युक्त बेडों की संख्या और खफत की जानकारी मांगी है। जिसे स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी तैयार कर रहे हैं। कुछ दिन पहले डीएम ने भी निरीक्षण कर प्लांट जल्द तैयार करने के निर्देश दिए थे।

 

Edited By: Samanvay Pandey