बरेली, जेएनएन। BaanKhana Firing Case: प्रेमनगर के बानखाने में अंधाधुंध फायरिंग कर दहशत फैलाने वाले बदमाशों ने बारादरी के सैदाना से तमंचे व कारतूस खरीदे थे। पूछताछ में बदमाशों ने तमंचे व कारतूस बेचने वाले का नाम लल्ला बताया। अब तमंचा व कारतूस बेचने वाले की तलाश में भी पुलिस जुट गई है। फरार तीसरे आरोपित को पुलिस नहीं पकड़ गई। तीन दिन से हिरासत में दोनों बदमाशों को शुक्रवार को जेल भेज दिया गया।

किला चौधरी तालाब निवासी मो. हुसैन उर्फ भोला घोसी, चाहबाई निवासी आशीष शर्मा व उसका एक अन्य साथी बानखान निवासी बिलाल मंगलवार को पीलीभीत स्थित चूका बीच घूमने गए थे। मंगलवार देरराात बदमाश जब बानखाने पहुंचे चलती कार से चार राउंड अंधाधुंध फायरिंग की थी। राहगीर की सूचना पर दोनों बदमाशों व ड्राइवर को पुलिस ने पकड़ लिया था। इसके बाद ड्राइवर को बेकसूर बताकर पुलिस ने थाने से ही छोड़ दिया था। पुलिस तीसरे बदमाश की तलाश में थी लेकिन, उसे पकड़ नहीं सकी।

 

Edited By: Ravi Mishra