जेएनएन, बरेली : अयोध्या को लेकर आए फैसले के बाद भले ही अमन चैन कायम हैं, लेकिन पुलिस छोटी सी भी चूक नहीं करना चाहती। इसके चलते फैसले के अगले दिन भी पुलिस दिन भर मुस्तैद रही। संवेदनशील क्षेत्रों में पुलिस अधिकारियों ने भ्रमण किया। सेटेलाइट पर बसों व यात्रियों की चेकिंग भी की गई। वहीं उच्चाधिकारी अधीनस्थों से फोन व वायरलेस के माध्यम से अपडेट लेते रहे।

अयोध्या फैसले के दूसरे दिन शहर में बारावफात के कई जुलूस निकले। फैसले के बाद शांति व्यवस्था बरकरार रखने को पुलिस पूर्व की प्लानिंग के अनुसार ही काम करती रही। एसपी सिटी, सीओ सिटी, सीओ द्वितीय व सीओ तृतीय अपने अपने क्षेत्रों में भ्रमण पर रहे। वहीं सेक्टर व जोन के हिसाब से जिन पुलिस कर्मियों की डयूटी जहां लगाई गई थी, अधिकारी वहां पहुंच कर उनसे गतिविधियों के बारे में पूछते भी रहे।

एसपी सिटी रविंद्र सिंह की मौजूदगी में सेटेलाइट पर खड़ी बसों में सवार यात्रियों व आसपास घूम रहे लोगों व उनके सामान की चेकिंग की गई। वहीं जोनल व सेक्टर मजिस्ट्रेट भी अपने अपने क्षेत्र में नजर बनाए रहे। इसके अलावा आला अधिकारी अधीनस्थों से हर दो घंटे में अपडेट लेते रहे। शाम होते ही जैसे ही बारावफात का जुलूस शुरू हुआ तो अधिकारियों के काफिले भी सड़कों पर दौडऩे लगे। उन्होंने जुलूस में पहुंचकर मौके का जायजा भी लिया।

 सोशल साइट्स पर भी बनी रही चौकसी 

अयोध्या मसले को लेकर पुलिस की साइबर सेल और सोशल साइट्स मॉनीटङ्क्षरग टीम भी निगरानी में जुटी रहीं। विवादित पोस्ट करने के मामले में एक गिरफ्तारी भी की गई। इसके अलावा टीमों की ओर से हर छोटी गतिविधि के बारे में अधिकारियों से बातचीत की जाती रही। साइबर क्राइम की टीम अधिकारियों की ओर से मिलने वाले निर्देशों पर दौड़ते रहे।

 सुरक्षा व्यवस्था और चौकसी लगातार बनी रहेगी। जिले के लोगों का सहयोग मिल रहा है। खुराफात करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। सभी ध्यान रखें की सोशल साइट्स पर टिप्पणी और पोस्ट करने से बचें।

- शैलेश पांडेय, एसएसपी  

Posted By: Abhishek Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप