बरेली (जेएनएन)। तीन तलाक के साथ ही हलाला तथा बहु विवाह के मामलों में पीडि़तों के हक की लड़ाई लडऩे वाली फरहत नकवी को जान से मारने तथा तेजाब से चेहरा जलाने की धमकी दी गई है। इस मामले में कल पुलिस ने एक आटो चालक को गिरफ्तार किया है, जिसकी पत्नी केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी की बहन के पास न्याय मांगने गई थी।

तलाक, हलाला व बहु विवाह के मामलों की लड़ाई लडऩे वाली मेरा हक फाउंडेशन की अध्यक्ष व केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी की बहन फरहत नकवी को एक युवक ने धमकी दे डाली। उसने खुद को मुख्यमंत्री का चालक बताकर तेजाब से चेहरा जलाने और गोली मारने की बात कही। पुलिस ने आरोपित के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया है।

धमकी के आरोप में पकड़े गए युवक का नाम अहमद रजा खां निवासी मुस्तफा नगर नकटिया, कैंट है। वह ऑटो चालक है। उसका निकाह शेरगढ़ के वीरपुरा निवासिनी साजदा बी से हुई है। तीन बच्चे हैं। पिछले कुछ महीने से पति पत्नी के बीच विवाद चल रहा है। पत्नी मायके में रह रही है।

दो दिन पहले दोपहर में साजदा बी मेरा हक फाउंडेशन की अध्यक्ष फरहत नकवी के पास न्याय मांगने पहुंची। फरहत ने बताया उनके निवास पर साजिदा नाम की महिला आई थी जिसने आरोप लगाया कि उसका पति उसे मारता-पीटता है और उसने दूसरी शादी भी कर ली है। फरहत ने साजिदा के पति को फोन करके अपना पक्ष रखने के लिए घर बुलाया जिस पर उसने उन्हें धमकी दी।

साजिदा के पति अहमद रजा खां ने फोन पर ही फरहत से कहा कि वो उनके घर पर आकर उन्हें गोली मार देगा और चेहरे पर तेजाब डाल देगा। इसके अलावा उसने जमकर गालियां भी दीं। इसके विरोध पर उसने खुद को मुख्यमंत्री का चालक बताकर कहा कि वह उसे गोली मार देगा और उससे पहले चेहरा भी तेजाब से जला देगा। इतना कहने के बाद उसने फोन काट दिया। मामला पुलिस तक पहुंच गया।

फोन पर बात हुई, धमकी नहीं दी, फंसाया गया

आरोपित ने पूछताछ के दौरान बताया कि उसने धमकी नहीं दी। उसे फंसाया गया है। दोपहर में महिला का फोन आया। उसने पत्नी से विवाद के बारे में पूछा। फिर धमकाया।

तीन बार किया फोन, फिर दारोगा से मंगवाई तहरीर

दो दिन पहले दोपहर को धमकी मिलने के बाद भी फरहत नकवी ने पुलिस से शिकायत नहीं की। इंस्पेक्टर केके वर्मा ने बताया तीन बार फरहत नकवी को खुद फोन कर तहरीर मांगी। वह आकर देने की ही बात कर रही थी। इधर, अधिकारियों के भी फोन घनघना रहे थे। लखनऊ तक से पूछताछ हो रही थी। जब फरहत नकवी नहीं आईं तो थाने से दारोगा को भेजकर उनसे तहरीर मंगवा ली। मुकदमा दर्ज कर आरोपित को गिरफ्तार कर लिया है।

फरहत नकवी मेरा हक फाउंडेशन नाम की संस्था चलाती हैं और उसकी अध्यक्ष हैं। फरहत मुस्लिम महिलाओं की मदद करती हैं। धमकी मिलने के बाद फरहत काफी डरी-सहमी हुई हैं। फरहत ट्रिपल तलाक और हलाला जैसी कुरीतियों के खिलाफ अभियान चला रही हैं जिस वजह से उनकी जान खतरे में है। 

Posted By: Dharmendra Pandey