जेएनएन, बरेली : बाल कल्याण समिति ने चाइल्ड लाइन निदेशक को नोटिस जारी किया है। सिटी श्मशान भूमि में मटके में मिली नवजात बच्ची की जानकारी न देने पर नाराजगी जाहिर की है। बाल कल्याण समिति के मजिस्ट्रेट डीएन शर्मा का कहना है कि नवजात बच्ची किस हालत में है और कहां है। इसकी रिपोर्ट मांगी गई थी लेकिन करीब आठ दिन बीत जाने के बाद भी चाइल्ड लाइन ने रिपोर्ट नहीं भेजी।

ये दिए आदेश 

इस मामले में डाक्टर रवि खन्ना और सुभाष नगर प्रभारी निरीक्षक ने जानकारी दी कि उसे रवि खन्ना के अस्पताल में भर्ती किया गया है। डीएन शर्मा ने कहा है कि अभी तक प्रोबेशन अधिकारी और मुङो इस बारे में जानकारी नहीं दी गई। यह कार्य के प्रति लापरवाही दर्शाता है। इसके साथ किशोर न्याय अधिनियम का उल्लंघन है। मजिस्ट्रेट ने आदेश दिया है कि बच्ची के बारे में बाल कल्याण समिति को जानकारी दें और जैसे ही वह स्वस्थ होती है, उसे तुरंत पेश किया जाए जिससे आगे की कार्रवाई की जा सके।

मटके में मिली थी सीता 

शमशान की भूमि के अंदर बच्ची को मटके में रख कर कोई दफना गया था। जिसके बाद जब खुदाई की गई तो मटके के अंदर बच्ची जिंदा मिली थी। जिसे इलाज के लिए पहले जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जिसके बाद उसे विधायक पप्पू भरतौल ने प्राइवेट अस्पताल में भर्ती करवाया था। जिसके बाद से उसका इलाज बराबर चल रहा है। 

Posted By: Abhishek Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस