जासं, बरेली: मुहब्बत परवान चढ़ी तो प्रेमी युगल घर छोड़कर चले गए। स्वजन ने उनको भरोसे में लेकर निकाह कराने का वादा कर वापस बुलाया। दोनों वापस लौटे तो स्वजन निकाह की जगह उनका घेराव करने लगे। किसी तरह भागकर दोनों बारादरी थाने पहुंचे। गुहार लगाई कि साहब निकाह करा दो, वरना घर वाले मार डालेंगे।

देवरनिया निवासी प्रेमी युगल के स्वजन को उनकी मुहब्बत पर एतराज था। इसी के चलते दोनों 20 दिन पहले भागकर गाजियाबाद चले गए। प्रेमी गुड्डू के मुताबिक, सोमवार को उसके भाई ने फोन कर कहा कि घर चले आओ। लड़की वालों से बात हो गई है। दोनों का निकाह करा देंगे। भाई की बात पर भरोसा कर मंगलवार दोपहर तीन बजे प्रेमी युगल शहदाना पहुंचे तो वहां दोनों के स्वजन खड़े थे। आरोप है कि स्वजन उनका घेराव करने लगे। भागकर दोनों बारादरी थाने पहुंचे। वहां रो-रो कर अपनी दास्तां सुनाई। बारादरी पुलिस ने युगल को देवरनिया पुलिस के हवाले कर दिया।

फुटपाथ व रेलवे स्टेशन पर सोए, पैसे खत्म हुए तो बेच दिया मोबाइल

गाजियाबाद पहुंचने में ही दोनों के पास जो रुपये थे वह खर्च हो गए। दोनों ने रेलवे स्टेशन और फुटपाथ पर कई दिन व रातें गुजारीं। आजीविका का संकट खड़ा हुआ तो प्रेमी ने तीन हजार रुपये में अपना मोबाइल बेच दिया। वह भी खर्च हो गए तो प्रेमी ने अपने भाई को फोन किया। प्रेमी ड्राइवरी करता है, जबकि प्रेमिका कारचोबी का काम करती है।

वर्जन

प्रेमी-प्रेमिका निकाह की जिद पर अड़े थे। मामला देवरनिया का था। लिहाजा, पूरे मामले की जानकारी देवरनिया पुलिस को दी गई। दोनों को देवरनिया पुलिस अपने साथ ले गई।

- नीरज मलिक, इंस्पेक्टर, बारादरी

Edited By: Jagran