जेएनएन, बरेली। बनबसा बैराज से 61 हजार क्यूसेक से अधिक पानी छोड़े जाने और गुरुवार रात से जारी बरसात के चलते शारदा नदी का जलस्तर फिर से बढ़ने लगा है। नदी का पानी पीलीभीत जिले पूरनपुर तहसील क्षेत्र में राणा प्रताप नगर गाव, रपटा पुल और नहरोसा रोड पर अभी भी चल रहा है। एक दिन पूर्व पानी कम होने पर रमनगरा के भुजिया के पास नदी ने कटान भी शुरू कर दिया था। रात में भी नदी कटान करती रही। बाढ़ से बचाव के लिए बनाए गए स्पर व कटर शारदा का तेज बहाव झेल नहीं पा रहे हैं। बाढ़ चौकियों की जिस सक्रियता का दावा प्रशासन कर रहा है वह मौके पर नहीं दिख रही है। लगातार बरसात जारी रहने से ट्रास शारदा क्षेत्र के लोगों में फिर से सैलाब की आशका बनी है। लोग बचाव कार्य तेज करने की माग कर रहे हैं परंतु शारदा के तेज बहाव के चलते ऐसा संभव नहीं हो पा रहा है। वहीं, शाहजहांपुर के भी कुछ इलाकों में बाढ़ के हालात बन रहे हैं। - बरसात होते ही रोपाई का काम शुरू : रात करीब दो बजे से क्षेत्र में अच्छी बरसात जारी है। इसका लाभ किसानों को मिल रहा है। इस बार कम बरसात होने के कारण कुछ किसानों ने धान न लगाने का मन बना लिया था, लेकिन अच्छी बरसात देखी तो किसानों का मन बदला है और उन्होंने धान लगना शुरू कर दिया है। अब उनको विश्वास हो रहा है कि इस बार बरसात अच्छी होगी। इसी कारण बचे हुए खेतों में पुन: धान लगना शुरू हो गया है। काफी किसानों ने धान की रोपाई शुरू की।

Posted By: Jagran