जेएनएन, बरेली: केंद्र सरकार की महत्वाकांक्षी प्रधानमंत्री किसान निधि सम्मान योजना रविवार से शुरू हो गई। गोरखपुर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के एक करोड़ किसानों के खाते में इसकी पहली किस्त के दो हजार रुपये स्थानांतरित किए। इस कार्यक्रम का सजीव प्रसारण आइवीआरआइ सभागार में हुआ। कार्यक्रम में आए किसानों ने दो हजार रुपये की पहली किस्त को बड़ी मदद बताया।

इस दौरान केंद्रीय मंत्री संतोष गंगवार ने कहा कि केंद्र सरकार ने किसानों की समस्याओं को प्राथमिकता से समाधान कराने की कोशिश की है। केंद्र सरकार की कोशिश है कि आने वाले समय में किसानों की आय दुगुनी की जाए। कार्यक्रम में सीडीओ सत्येंद्र कुमार आदि मौजूद रहे।

प्रदर्शनी का उद्घाटन कर देखे उत्पाद

केंद्रीय मंत्री ने कार्यक्रम के बाद किसानों के लिए लगी प्रदर्शनी का भी फीता काटकर उद्घाटन किया। इस दौरान किसानों ने उन्हें अपनी समस्याएं भी बताईं। गन्ना भुगतान संबंधी किसानों को कार्यालय पर आकर मिलने को बोला। बाद में भोजन वितरण हुआ तो सभी किसानों ने अपील की गई कि सभी लोग कूड़ेदान का इस्तेमाल करेंगे।

----------

लेखपाल सिर्फ एक दिन गांव में आए। उसके बाद नहीं आए, जिसके चलते पहले चरण के लिए अपना नामांकन नहीं करा सके।

-अनिल कुमार, अब्दुलापुर केंद्र सरकार की योजना गरीब किसानों के लिहाज से सराहनीय है। हमारी जमीन अधिक होने से योजना के पात्र नहीं है। अन्य योजनाएं भी बेहतर हैं।

-कमर अली खां, धारूपुर जिले से लाभान्वित होने वाले किसानों की पहली सूची में नाम होने की जानकारी नहीं है, लेकिन बड़े भाई ने पंजीकरण करा दिया है।

ताराचंद, भुता योजना की जानकारी मिलते ही पंजीकरण करा दिया, जिससे जिले में पहले चरण में लाभान्वित होने वाले किसानों की सूची में नाम है।

जागन लाल, बोहित छह हजार रुपये की मदद छोटे किसानों के लिए बड़ी है। अब उन्हें दवा, खाद आदि खरीदने के लिए कर्जा नहीं लेना पड़ेगा।

ओमप्रकाश, हमीरपुर समय से पंजीकरण करा दिया था, जिससे पहले सूची में नाम शामिल हो सका। यह दो हजार रुपये फसल संबंधी कई छोटे काम में उपयोगी होंगे।

जयसिंह, हमीरपुर ससुर के नाम नौ बीघा खेती है। अभी पंजीकरण नहीं कराया है। कार्यक्रम में आकर इसकी जानकारी हुई। अब जल्द पंजीकरण कराएंगे।

सुषमा यादव, बिथरी चैनपुर पति के नाम दो बीघा जमीन है। पंजीकरण कराने पहुंचे, तो बताया गया कि लिस्ट में नहीं है, जिससे पहले चरण में योजना का लाभ नहीं मिला।

रीना, बिथरी चैनपुर

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस