बरेली: ग्रामीण क्षेत्रों में बुखार से लगातार मौतें हो रहीं मगर स्वास्थ्य विभाग रोकथाम के बजाय आंकड़ों की बाजीगरी में लग गया। जिले में पिछले पंद्रह दिन में करीब 53 लोगों की मौत हो चुकी मगर सीएमओ कह रहे कि महज आठ लोगों ने बुखार से दम तोड़ा है। गुरुवार को वह सबसे ज्यादा प्रभावित आंवला क्षेत्र के मझगवां पहुंचे।

आंवला: सीएमओ वीके शुक्ला ने मझगवां सीएचसी में इंतजाम देखे। उन्होंने मलेरिया की पुष्टि भी की। उन्होंने कहा कि जिले भर में स्वास्थ्य टीमें सक्रिय हैं। रुहेलखंड मेडिकल कॉलेज समेत अन्य प्राइवेट कॉलेजों की मदद भी ली जा रही है। कैंप का निरीक्षण किया। वहीं आंवला व मीरगंज क्षेत्र में बुखार से दस लोगों की जानें चली गई। डॉ. गौरव मिश्रा ने कहा कि गंदगी मौत की बड़ी वजह है।

गांव मनौना में गुरुवार को हाईस्कूल की छात्रा निशा पुत्री मुन्त्याज को बुखार आए। उपचार के ले जाते समय उनकी मौत हो गई। वहीं, ग्राम मनौना में बुखार से कल्यान मौर्य, गफ्फार, खुर्शीदन व गुलपिजा सहित चार की पहले ही मौत हो चुकी है। भमोरा के ग्राम ख्योराजपुर के रामलाल पुत्र गोकुल तथा सिरौही की कक्षा दस की 15 वर्षीय छात्रा भारती पुत्री महेन्द्र पाल की बुखार से मौत हो गई है।

मीरगंज में सात की मौत

मीरगंज में बुखार पीड़ित साल लोगों की मौत हो गई। गांव दियोरिया अब्दुल्लागंज में जाकिर खां के पुत्र हुजेफ खां(12) को तीन दिन पूर्व बुखार आया था। उपचार के दौरान उनकी मौत हो गई। थानपुर गांव के नत्थू लाल के पुत्र ओमकार की भी उपचार के दौरान मौत हो गई। दुजोडा नदी किनारे बसे हरदोई गांव में पूरन लाल (50) की चार-पांच दिन के बुखार में जान चली गई। भोलापुर गांव में सिद्धि देवी (35) पत्नी हीरा लाल , गौरव (5) पुत्र नंद लाल जाटव , ¨पटू यादव (5)पुत्र पप्पू यादव ,सुनील कुमार(8) पुत्र छेदालाल की मौत हो गई। जबकि गांव मनकरी व टियर खेड़ा दो-दो मौतें हो चुकी हैं। पूरे गांव में लगभग चालीस लोग बीमार हैं। भोलापुर गांव में तो एक घर में सभी लोग बीमार हैं। हरदेई के परिवार में पांच लोग हीरालाल मुकेश, मोरपाल, लोकेश, विजय बीमार हैं। थानपुर गांव में प्रधानपति मुन्ना लाल , लाल ¨सह, जसोदा देवी, बेचेलाल, प्रदीप कुमार, सतपाल, कौशल्या देवी , अब्दुल आदि बुखार से पीड़ित हैं। सीएचसी चिकित्सा अधीक्षक डॉ. नवनीत कुमार अग्रवाल ने बताया कि हम उपचार कर रहे हैं।

विधायक पप्पू भरतौल ने भी किया निरीक्षण

विशारतगंज : बिथरी विधायक राजेश कुमार मिश्रा उर्फ पप्पू भरतौल पुराना बाजार में लगे एसआरएमएस व रुहेलखंड मेडिकल कालेज के कैंप में पहुंचे। मरीजों का हाल जाना। चिकित्सकों से बात की। सूरज पाल मौर्य, प्रदीप मित्तल, कुलदीप मौर्य,भानु गोस्वामी, वीरेन्द्र लोधी, सर्वेश , विपुल पटेल आदि रहे। ग्राम मनौना में डा. केवी पाठक के नेतृत्व में 316 मरीजों को दवाएं बांटी गई। व्यौधन खुर्द में भी डा.अजय के नेतृत्व में ग्राम बराथानपुर व पिपरियावीरपुर में कैंप लगाया गया।

छंगाटांडा में ख्यालीराम के इकलौते पुत्र अमन को दिमागी बुखार ने निगल लिया। गांव बंझिया के ख्याली राम मेहनत मजदूरी करते हैं। उनकी पत्नी ने तीन पहले आग लगाकर आत्म हत्या कर ली थी। उनके तीन पुत्री व एक पुत्र अमन है। चार दिन से चौदह वर्षीय अमन को तेज बुखार आ रहा था। परिवार वालों ने उसे बहेड़ी के एक निजी अस्पताल मे भर्ती कराया। बीती रात उसकी मौत हो गई।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस