जागरण संवाददाता, बरेली : रेलवे में खेल कोटे से नौकरी दिलवाने के नाम पर एक रेलकर्मी ने पत्नी व भाई की मदद से क्रिकेट ट्रेनर से पांच लाख रुपये ठग लिए। दो साल बाद भी नौकरी नहीं लगने पर पीड़ित ने रकम वापस मांगी तो उसे धमकाया। पीड़ित ने एसपी सिटी से शिकायत की। उनके आदेश पर आरोपितों के खिलाफ कोतवाली में मुकदमा दर्ज कर लिया गया।

बारादरी में सुपर सिटी कॉलोनी निवासी पंकज कुमार क्रिकेट ट्रेनर हैं। वह कैंट स्थित एक निजी स्कूल में बच्चों को क्रिकेट की ट्रेनिंग देते थे। इस दौरान स्कूल में उसकी मुलाकात अशोक कुमार से हुई। अशोक नार्थ रेलवे कॉलोनी, जंक्शन में रहते हैं। कुछ दिन बाद वह अपने घर ले गया और रेलवे में नौकरी करने वाले भाई महेश कुमार व अपनी भाभी से मुलाकात कराई। इसके बाद अक्सर उनके यहां आना-जाना हो गया। अशोक के भाई महेश व उनकी पत्नी ने झांसा दिया कि उनकी रेलवे के बड़े अधिकारियों से अच्छी पहचान है। अगर चाहे तो वह खेल कोटे से उसकी नौकरी लगवा सकते हैं लेकिन इसमें पांच लाख रुपये खर्च होंगे। पंकज उनके झांसे में आ गया और किसी तरह पांच लाख रुपये का जुगाड़ कर तीन जून 2016 को कचहरी में महेश के कहने पर उसके भाई अशोक को दे दिए। दिसंबर 2016 तक नौकरी दिलाने का आश्वासन दिया। कुछ महीने बाद उसे फर्जी ट्रायल लेटर, पुलिस वेरीफिकेशन फार्म के साथ तीन फर्जी चेक दे दिए। दो साल बाद भी नौकरी नहीं लगी तो पीड़ित ने रकम वापस मागी। आरोप है कि आरोपितों ने रुपये देने से इन्कार कर दिया और पंकज को धमकी देने लगे। मंगलवार को पीड़ित ने एसपी सिटी से शिकायत की तो उनके आदेश पर आरोपितों के खिलाफ कोतवाली में मुकदमा दर्ज किया गया।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप