बुलडोजर के डर से प्रदेश से पलायन कर गए रेंज के 499 बदमाश

- आइजी रेंज के निर्देश पर चले विशेष अभियान आपरेशन दस्तक में सामने आई रिपोर्ट

- बीते पांच साल में लूट, डकैती, नकबजनी, वाहन चोरी में शामिल अपराधियों की कुंडली तैयार

जागरण संवाददाता, बरेली: योगी 2.0 सरकार में अपराधियों पर कमरतोड़ कार्रवाई हो रही है। कानून व बुलडोजर के डर से अपराधी क्षमा की भीख मांगते हुए सरेंडर कर रहे हैं। इसी बीच रेंज के चारों जनपदों में चले विशेष अभियान आपरेशन दस्तक में चौकाने वाली रिपोर्ट सामने आई है। पता चला कि रेंज के 499 बदमाश प्रदेश से पलायन कर गए हैं जबकि 776 बदमाश सलाखों के पीछे हैं। 3663 जमानत पर हैं। इन सभी की पुलिस ने कुंडली तैयार कर ली है।

आइजी रेंज रमित शर्मा के निर्देश पर 15 अप्रैल से 14 मई तक रेंज के चारों जनपदों बरेली, बदायूं, पीलीभीत व शाहजहांपुर में विशेष अभियान चलाया गया। इसके तहत घर-घर जाकर अपराधियों का सत्यापन किया गया। पता चला कि बीते पांच वर्षो में कुल 5194 अपराधियों में से डकैती के 353, लूट के 1466, नकबजनी के 1699 एवं वाहन चोरी के 1676 अपराधी हैं। डकैती के 93, लूट के 97, नकबजनी के 98 व वाहन चोरी के 97 प्रतिशत अपराधियों का सत्यापन किया गया। तीन प्रतिशत अपराधी अन्य जनपदों में रह रहे हैं।

---

त्रिनेत्र व बीट प्रहरी एप में दर्ज किया ब्योरा

सत्यापन के बाद संबंधित अपराधियों की लोकेशन एवं अन्य जानकारियां बीट प्रहरी एप में दर्ज की गईं। साथ ही अपराधियों की फोटो अभिलेखों के साथ त्रिनेत्र एप में रिकार्ड की गई है। किसी घटना पर एक क्लिक सें संबंधित अपराधियों के बारे में पूरी जानकारी पुलिस के पास होगी।

---

यह है त्रिनेत्र-एप

त्रिनेत्र-एप के जरिये अपराधियों का क्राइम रिकार्ड तत्काल जाना जा सकता है। इस एप में आर्टीफिशियल इंटेलीजेंस की मदद से फेस रिकग्निशन किया जाता है। किसी संदिग्ध के पकड़े जाने पर इस एप से यह जाना जा सकता है कि उस व्यक्ति का क्राइम रिकार्ड क्या है? उससे संबंधित महत्वपूर्ण जानकारियां डेटाबेस से मिल जाती हैं।

-----------

अपराधियों की वर्तमान स्थिति :

जिला जेल जमानत उप्र से बाहर

बरेली 189 1312 249

बदायूं 190 1146 198

पीलीभीत 10 384 22

शाहजहांपुर 387 821 30

बीते पांच साल में प्रकाश में आए अपराधियों का विवरण

जिला डकैती लूट नकबजनी वाहन चोरी

बरेली 190 476 530 620

बदायूं 110 492 428 606

पीलीभीत 15 122 214 93

शाहजहांपुर 38 376 527 357

वर्जन:::फोटो :::

आपरेशन दस्तक के जरिये रेंज में पांच वर्षो में घटित डकैती, लूट, नकबजनी व वाहन चोरी की घटनाओं में संलिप्त अभियुक्तों का सत्यापन कराया गया है। इन अपराधियों का डेटाबेस भी तैयार किया गया है। पूछताछ के समय डेटाबेस से उसके अपराधिक रिकार्ड व अन्य जानकारियां प्राप्त की जा सकती हैं।

- रमित शर्मा, आइजी रेंज

Edited By: Jagran