जेएनएन, बरेली : रुहेलखंड में बुखार का कहर जारी है। शुक्रवार को भी मंडल के बरेली व बदायूं जिले में 21 जिदंगी बुखार से जंग हार गई। बदायूं में बुखार से मरने वालों का आंकड़ा 122 पहुंच चुका है। सबसे बुरा हाल बदायूं जिले के जगत व सलारपुर ब्लॉक क्षेत्र के गांवों का है। यहां एक दिन में 17 मौतें हो गई। वहीं बरेली में चार जानें चली गई।

बरेली में शुक्रवार को रामनगर के गांव मनौना में जमील अहमद, भमोरा के ग्राम हजरतपुर में सुभानी की बेटी अख्तरी (11) व सलीम के बेटे इश्के अली (3), सेंथल के ग्राम टाडा सादात में बुंदन इदरीसी पुत्र अली मोहम्मद (50) की मौत हो गई।

बदायूं जिले में जगत ब्लॉक के गांव आलमपुर निवासी लालमियां के बेटे सहदुल (14), गांव चंदननगर निवासी रामचंद्र की बेटी रुकमणी (12), गांव कमालपुर निवासी स¨वदर(24), विकास(13), हरिराम और रामबेटी, मोहम्मदनगर सुलरा गांव में सूरज(21) के प्राणों को बुखार निगल गया। वहीं, गांव पडौलिया निवासी सूरजपाल के बेटे संजीव(11), सूरजपाल सोनू, गांव खुनक निवासी हेमराज(40), गांव घुमरैया निवासी नरेश की पत्नी फूला देवी(40), देसी गांव की लखन पाली की पत्नी नेमवती(45) की बुखार से जान चली गई। उधर, ब्लॉक सलारपुर क्षेत्र के गांव वनगढ़ निवासी नूरजहां, सेमरमई निवासी अफसर अली, कल्लिया काजमुर निवासी भानु प्रकाश की भी बुखार से मौत हो गई। इसके अलावा आसफपुर क्षेत्र के टोडरपुर निवासी राजाराम के बेटे अवधेश (18), मुहम्मदपुर मई गांव में सियाराम(60) और पूनम(16) पुत्री जयपाल ने बुखार से दम तोड़ दिया। --बदायूं के जगत व सलारपुर ब्लॉक की स्थिति सबसे भयावह

--बदायूं में बुखार से मौत का आंकड़ा पहुंचा 122

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस