बाराबंकी : पूर्व में जांच में कोरोना संक्रमित मिले वार्ड ब्वाय सहित दो की इलाज के दौरान मौत हो गई। दूसरी ओर जांच में कोरोना संक्रमितों की संख्या में कमी आई है। शाम तक जांच में महज एक व्यक्ति पाजिटिव मिला है। दूसरी ओर, जिले में 102 जगहों पर कोरोना रोधी टीका लगाया गया। 12600 के लक्ष्य के सापेक्ष आठ हजार लोगों को कोरोना रोधी टीका लगाया गया। शाम चार बजे तक 4620 लोगों को कोरोना रोधी टीका लगाया जा चुका था। 15 लोग स्वस्थ हुए हैं।

फतेहपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर तैनात वार्ड ब्वाय शत्रोहन लाल की हिद अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई। वह पहले पाजिटिव आए थे। बाद में जांच में उनकी रिपोर्ट निगेटिव आ गई थी। गुरुवार की रात तबीयत बिगड़ गई उनकी मौत हो गई। दूसरी ओर लखनऊ के एक व्यक्ति की मेयो में मौत हो गई।

------------

जिला चिकित्सालय पहुंची मशीन, जल्द बनने लगेगी आक्सीजन

बाराबंकी : कोरोना संक्रमणकाल में जिले में आक्सीजन की कमी के चलते कोविड संक्रमितों को आक्सीजन की उपलब्धता नहीं हो पा रही थी, लेकिन जिले में अब आक्सीजन की किल्लत अब दूर होगी। शुक्रवार को जिला चिकित्सालय में अहमदाबाद की पाथ इंटरनेशनल एंजेसी की ओर से आक्सीजन जनरेशन प्लांट की मशीन पहुंचाई गई। इस मशीन से 570 लीटर प्रति मिनट आक्सीजन बनेगी, जो मरीजों को आसानी से उपलब्ध होगी।

दोपहर जिला चिकित्सालय में जेसीबी मशीन से आक्सीजन जनरेशन प्लांट की मशीन पहुंचाई गई। इसी के साथ प्लांट लगाने के लिए परिसर में खोदाई का कार्य भी शुरू करा दिया गया है। जल्द ही आक्सीजन प्लांट चालू करा दिया जाएगा। पांच सौ एलपीएम का आक्सीजन जनरेशन प्लांट यहां पर जल्द चालू हो जाएगा। प्रस्तावित आक्सीजन प्लांट को लगाने के ²ष्टिगत जिलाधिकारी डा. आदर्श सिंह, सीएमओ डा. बीकेएस चौहान, कोरोना के नोडल अधिकारी पहले ही निरीक्षण कर चुके हैं। अभी तक जिले में सारंग आक्सीजन प्लांट के अलावा हिद अस्पताल में दो आक्सीजन प्लांट लगे हैं। इसके अलावा जय साईं आक्सीजन गैस प्लांट से भी आक्सीजन की आपूर्ति हो रही है। सीरो सर्विलांस में 266 के लिए सैंपल : सीरो सर्विलांस के तहत अभियान के अंतिम दिन सैंपल लेने का कार्य जारी रहा। एंटी बाडी की जांच कराकर 11 जगहों पर सैंपल लिए गए। आठ पुरुष, आठ महिला व आठ बच्चों का सैंपल लिया गया। प्रति जगहों पर 24 लोगों को सैंपल लिया गया। कुल 266 सैंपल लिए गए। यह जांच के लिए केजीएमसी जाएगा। इससे पता चलेगा कि प्रतिरोधक क्षमता कितनी बेहतर है और गांव वासी कोविड संक्रमण से कितने सुरक्षित हैं। नोडल अधिकारी डा. डीके श्रीवास्तव ने बताया कि तीन दिन में 31 जगहों पर कुल 744 लोगों का सैंपल लिया गया। सीरो कनवर्जन अभियान के तहत चिन्हित 42 नाम भेजे गए थे, जो कोविड पाजिटिव थे। शाम तक 18 तक सैंपल लिया जा चुका है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप