बाराबंकी : जैदपुर पुलिस ने दो मार्फीन तस्करों को गिरफ्तार किया है। आरोपितों के पास से पुलिस ने 800 ग्राम मार्फीन बरामद किया है। दोनों आरोपित हिस्ट्रीशीटर है जिस पर गैंगस्टर सहित सात मुकदमे दर्ज हैं। पुलिस ने दोनों आरोपितों को न्यायालय में पेश किया जहां से दोनों को जेल रवाना कर दिया गया है।

अपराध और अपराधियों पर अंकुश लगाने के लिए चलाए जा रहे अभियान के तहत जैदपुर पुलिस ने गुरुवार को प्रभारी निरीक्षक जैदपुर के नेतृत्व में दो शातिर तस्करों को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए आरोपितों में टेरा गांव का प्रताप वर्मा पुत्र विष्णु दयाल वर्मा और मुजीब उर्फ बौरा पुत्र जियाउर्रहमान शामिल हैं। जिन्हें गोछौरा से टेरा जाने वाले मार्ग पर स्थित पुलिया पर गिरफ्तार किया गया। जिनके पास से पुलिस ने तलाशी में 800 ग्राम मार्फीन बरामद कर एनडीपीएस एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया है। जैदपुर कोतवाल धर्मेंद्र सिंह रघुवंशी ने बताया कि दोनों आरोपित थाने के हिस्ट्रीशीटर अपराधी है, एक पर सात मुकदमे और मुजीब उर्फ बौरा पर दो मुकदमे दर्ज हैं। यह लोग मार्फीन किससे खरीदे थे और किसे सप्लाई करने जा रहे थे इसका पता लगाया जा रहा है। तस्करी में शामिल अन्य लोगों को भी तलाश जा रहा है।

गांव के बाहर पेड़ से लटकता मिला युवक का शव

बाराबंकी : सधवापुर मजरे इब्राहिमाबाद के संजय यादव का शव गुरुवार को गांव के बाहर बबूल के पेड़ से लटकता मिला। घरेलू कलह के चलते जान देने की बात कही जा रही है। कोतवाली निरीक्षक अजय त्रिपाठी ने बताया कि युवक के कपड़ों से एक सुसाइड नोट मिला है। परिवारजन के बयान लेने के बाद शव को पीएम के लिए भेज दिया गया है। उधर, युवक का सुसाइड नोट इंटरनेट मीडिया पर वायरल होने लगा। इसमें पत्नी के अक्सर मायके में रहने को लेकर विवाद होते रहने की बात लिखी है। इसमें उसने लिखा है कि उसका एक लाख रुपया स्टेट बैंक में जमा है जो उसकी दो वर्षीय बेटी वैष्णवी को दे दिया जाए। सुसाइड नोट के साथ उसने अपना व बेटी का आधार कार्ड भी फेसबुक पर पोस्ट किया है।

Edited By: Jagran