मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

बाराबंकी : देवा ब्लॉक में नवाचार के तहत शुरू की गई स्मार्ट स्कूलिग परीक्षा मेधावी छात्रों का भविष्य संवार रही है। प्रतियोगी परीक्षाओं के पैटर्न पर आयोजित इस प्रतियोगिता का पांचवा चरण गुरुवार को सभी न्याय पंचायतों में आयोजित हुआ। 214 छात्रों ने यह परीक्षा दी। अपने नवाचार के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित बीईओ देवा आरपी यादव ने ब्लॉक के स्कूलों में नवाचार के तहत स्मार्ट स्कूलिग परीक्षा की अवधारणा लागू की थी। इसका मकसद छात्रों को प्रतियोगी परीक्षाओं के पैटर्न से परिचित कराते हुए उन्हें प्रतियोगिताओं के लिए तैयार करना था। ओएमआर शीट पर होने वाली इस परीक्षा के चार चरण काफी उत्साह जनक रहे। इन चरणों मे काफी मेधावी छात्र उभर कर सामने आए। ज्यादातर सफल छात्रों को नवोदय प्रवेश परीक्षा की तैयारी विशेष केंद्रों पर कराई जा रही थी। गुरुवार को इस परीक्षा का अंतिम चरण संपन्न हुआ। गोपालपुर, कुसुंभा, कैमा, छेरिया सहित 10 न्याय पंचायतों में परीक्षा का आयोजन हुआ। चौथे चरण में सफल घोषित 214 छात्रों ने अगले चरण की परीक्षा दी। बीईओ आरपी यादव ने कहा कि इस प्रतियोगिता से काफी ग्रामीण मेधावी निखर कर सामने आए हैं। अब इन्हें निरंतर उचित शिक्षा और मार्गदर्शन की जरूरत है। जिसके प्रयास किए जायेंगे। परीक्षा के संपादन में एबीआरसी राम सुरेश यादव, आनंद भुवन सहाय, दीपशिखा राय, विवेक गुप्ता और रवींद्र शर्मा ने सक्रिय भूमिका निभाई। हम होंगे कामयाब एक दिन : परीक्षा में शामिल सभी छात्र जोश और हौसले से भरे दिखे। उन्हें यकीन है कि एक दिन वह भी सीमित संसाधनों में कामयाबी की इबारत लिखेंगे। छात्रा खुशी ने कहा कि हमें यकीन है कि जिदगी की दौड़ में हम एक दिन जरूर कामयाब होंगे और अपने सपने को पूरा करेंगे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप