बाराबंकी : घाघरा नदी की बाढ़ से पीड़ित परिवारों के मतदाता एल्गिन ब्रिज-चरसड़ी तटबंध झोपड़ी में ही रहते हैं और लोक सभा चुनाव में मतदान भी झोपड़ी में ही तटबंध पर करेंगे। सोमवार को डीएम उयभानु त्रिपाठी व एसपी अजय साहनी ने स्थलीय निरीक्षण कर मतदान केंद्र बनाए जाने पर सहमति जताई।

डीएम ने बताया कि मांझारायपुर में तटबंध पर करीब 16 सौ मतदाताओं के लिए दो बूथ बनाए जाएंगे ताकि बाढ़ प्रभावित माझा रायपुर के मतदाताओं को दूर न जाना पड़े। बाढ़ प्रभावित क्षेत्र के ही नैपुरा स्थित प्राथमिक विद्यालय मेमं तीन बूथ बनाए जाएंगे जहां 21 सौ मतदाता अपना वोट देंगे। डीएम ने बताया कि तटबंध तक पोलिग पार्टियों को पहुंचने में दिक्कत न हो इसके लिए पोलिग पार्टियों के साथ स्थानीय ऐसे कर्मचारी भी लगाए जाएंगे जो सभी गांवों के रास्तों से भली भांति जानता होगा। तटबंध पर मतदान दिवस के एक दिन पहले जब पोलिग पार्टियां पहुंचेंगी तो उन्हे कोई दिक्कत न हो इसके लिए इंतजाम तटबंध पर ही किए जाएंगे। उजाले के लिए सोलर लाइट व जनरेटर की व्यवस्था भी कराई जाएगी। डीएम ने एसडीएम सिरौलीगौसपुर अशोक कुमार को निर्देशित किया कि मतदान केंद्र पर चुनाव आयोग के निर्देशानुसार सारी व्यवस्थाएं की जानी चाहिए। बाढ़ क्षेत्र के बूथों का विशेष ध्यान दिया जाए।

नुक्कड़ नाटक के जरिए मतदाताओं को किया जागरूक

बाराबंकी : मिलेनियम स्कूल के बच्चों ने सोमवार को कलेक्ट्रेट के निकट नुक्कड़ नाटक कर मतदाताओं को जागरुक किया। बच्चों ने नाटक के जरिए बताया कि कम मतदान प्रतिशत से किस तरह अनचाहे लोग जीत जाते हैं और बाद में जनता की समस्याओं को दूर करने के बजाए बढ़ाते हैं। डीएम उदयभानु त्रिपाठी व एडीएम संदीप कुमार गुप्ता ने स्कूली बच्चों व शिक्षक-शिक्षिकाओं का उत्साह वर्धन किया। बच्चों से कहा कि वह अपने घर व आसपास के लोगों को मतदान के लिए प्रेरित करें।

Posted By: Jagran