फतेहपुर (बाराबंकी): गत वर्ष दहेज हत्या के मुकदमे में दर्ज मृतका को कोतवाली पुलिस ने रविवार की रात लखनऊ से प्रेमी संग बरामद कर लिया। बरामद विवाहिता को कानूनी प्रक्रिया के तहत कोतवाली पुलिस पिता को सौंपने की तैयारी में है।

बताते हैं कि गत वर्ष 18 अप्रैल को मानपुर गांव निवासी पूरन के पुत्र बब्लू का अपनी पत्‍‌नी राजकुमारी से देर रात कहासुनी एवं मारपीट हुई। गुस्से में बब्लू ने घर की झोपड़ी में आग भी लगा दी थी। इधर राजकुमारी अपनी तीन वर्षीय पुत्री को ससुराल छोड़ भाग निकली। जब इसकी सूचना विवाहिता के पिता रामअवतार को मिली तो वे मौके पर पहुंचे। झोपड़ी जली देखकर उन्होंने दामाद बब्लू सहित छह लोगों पर दहेज हत्या किए जाने का आरोप लगाते हुए न्यायालय से न्याय की गुहार लगाई थी।

न्यायालय ने कोतवाली पुलिस को मुकदमा पंजीकृत करने एवं तफ्तीश का आदेश दिया। अंतत: गत वर्ष तीन जुलाई को दहेज हत्या का मुकदमा कोतवाली में पंजीकृत हुआ। तभी से तफ्तीश जारी थी। सीओ दिनेश कुमार सिंह ने विशेष रुचि दिखाते हुए मामले की संदिग्धता उजागर की। उन्हीं के निर्देशन में चल रही जांच का खुलासा रविवार की रात हो गया। जहां कोतवाली के एसआइ वीएन वर्मा ने महिला कांस्टेबल संग चिनहट, लखनऊ से राजकुमारी को उसके प्रेमी अनिल साहू के संग बरामद कर लिया। सीओ का कहना है कि सभी कानूनी प्रक्रिया पूर्ण कर लेने के उपरांत विवाहिता को उसके पिता रामअवतार को सौंपने की तैयारी की जा रही है। विवाहिता बालिग है अत: उसकी इच्छा के मुताबिक अग्रिम कार्रवाई की जाएगी एवं मुकदमे में गुमराह करने के लिए वादी के विरुद्ध उचित कार्रवाई की संस्तुति की जाएगी।