बाराबंकी : ओदार गांव में बुधवार को लगे कैंप में वीडियो कांफ्रेसिग के माध्यम से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रधानमंत्री सड़क निर्माण योजना के तहत बनाई जा रही सड़क की स्थिति देखी। उन्होंने ओदार गांव के रामनरेश प्रजापति से बातकर सड़क और उसकी गुणवत्ता के संबंध में जानकारी ली। रामनरेश ने मुख्यमंत्री को बताया कि जिस सड़क का निर्माण हो रहा है। वह लखनऊ-महमूदाबाद से जुड़ती है। मुख्यमंत्री से बात करके रामनरेश उत्साहित दिखे। उन्होंने बताया कि योजनाओं के क्रियान्वयन में पारदर्शिता और गुणवत्ता को लेकर सरकार के मुखिया बेहद संजीदा हैं। सड़कों की गुणवत्ता की जानकारी हम जैसे ग्रामीण से लेकर सत्ता और आमजन के बीच दूरी को कम करने का काम किया है। पहली बार अहसास हुआ कि हम भी सरकार का हिस्सा हैं।

इस दौरान फतेहपुर उपजिलाधिकारी सुमित यादव, बीडीओ मुनेश चंद्र, सहायक विकास अधिकारी विभाग गुप्ता, जेई केपी सिंह, ग्राम पंचायत अधिकारी रेनू पांडेय, लवकुश यादव आदि मौजूद उपस्थित रहे। ढाई करोड़ की लागत से बन रही सड़क

ग्रामीण अभियंत्रण विभाग के अवर अभियंता केपी सिंह ने बताया कि लखनऊ-महमूदाबाद मार्ग से ओदार तक सड़क का निर्माण कराया जा रहा है। पांच किलोमीटर लंबे इस मार्ग का निर्माण करीब दो करोड़ 67 लाख 33 हजार की लागत से कराया जा रहा है।

सीएम सुरक्षा अधिकारियों ने लिया जायजा

बाराबंकी : हरख ब्लाक और शहर में जीआइसी आडीटोरियम में प्रस्तावित मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कार्यक्रम के ²ष्टिगत सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए है। सीएम सुरक्षा के अधिकारियों ने भी दोनों कार्यक्रम स्थलों का जायजा लिया है। हेलीपैड से लेकर कार्यक्रम स्थल तक चप्पे-चप्पे पर पुलिस बल तैनात होगा। पुख्ता इंतजाम के लिए पूरे लखनऊ जोन के जिलों से पुलिस बल लगाया गया है। सीएम योगी आदित्यनाथ गुरुवार को जिले में दो जनसभाओं को संबोधित करेंगे और 286 परियोजनाओं का शुभारंभ व लोकार्पण करेंगे। दोनों स्थानों पर अभेद्य सुरक्षा कवच तैयार किया गया है। हरख में कार्यक्रम स्थल पर दो एएसपी, पांच पुलिस उपाधीक्षक, 19 निरीक्षक, 81 उप निरीक्षक, 453 कांस्टेबल, 94 महिला कांस्टेबल, तीन महिला दारोगा, तीन कंपनी पीएसी, तीन टीएसआइ, 25 यातायात पुलिस सहित दो फायर टेंडर तैनात होंगे। वहीं, जीआइसी में दो एएसपी, पांच सीओ, दस निरीक्षक व दस थानाध्यक्ष, 98 उपनिरीक्षक, 464 कांस्टेबल, पांच महिला उपनिरीक्षक, 104 कांस्टेबल, डेढ कंपनी, पीएसी, दो टीएसआइ, 33 यातायात कांस्टेबल और दो फायर टेंडर तैनात होंगे। कार्यक्रम स्थल के आसपास ऊंची इमारतों को वाच टावर के रूप में बनाकर पुलिस बल तैनात किया जाएगा।

Edited By: Jagran